इंजीनियरिंग कालेज तक पहुंची जंगल की आग

पौड़ी। गुरुवार की रात से धधक रही जंगल की आग शुक्रवार को इंजीनियरिंग कालेज घुड़दौडी तक पहुंच गई। जंगल की आग के इतने नजदीक पहुंच जाने के कारण रात भर छात्र भी धुंए से परेशान रहे। हैरत की बात यह है कि वन महकमे सहित प्रशासान को शुक्रवार दोपहर तक आग की भनक नहीं लगी। ओजली से सटे जंगलों के बाद अब घुड़दौड़ी के आसपास के जंगल आग की चपेट में आ गए हैं।
जानकारी के अनुसार गुरुवार की रात घुड़दौड़ी इंजीनियरिंग कालेज से सटे जंगलों में आग धधक गई। जंगलों से होती हुई यह आग इंजीनियरिंग कालेज के हॉस्टल तक पहुंच गई। यही नहीं यहीं पास में कन्या पूर्व माध्यमिक स्कूल सहित आवास भी हैं। हालांकि स्कूल इन दिनों बंद है। आग के कारण चारों ओर धुंआ फैला हुआ है। इंजीनियरिंग कालेज के छात्रों ने बताया कि रात भर यहां धुंआ आने से दिक्कतें हुईं। इससे पढ़ाई में भी व्यवधान हुआ। घरों के आसपास स्थानीय लोगों ने भी आग बुझाई। इससे पूर्व ओजली, सैंज, भट् गांव के के जंगल भी आग की चपेट में आ गए थे। आग की चपेट में आने के कारण वन सम्पदा को नुकसान हो रहा है। प्रशासन एक ओर आपदा से जुडे़ प्रशिक्षण करवा रहा है तो दूसरी ओर मुख्यालय से सटे जंगल आग से धधकने की सूचना तक भी नहीं जुटा पा रहा है। वह भी तब जबकि इस बार जंगलों की आग को लेकर मौसम भी मेहरबान है।  डीएफओ सिविल पौड़ी लक्ष्मण सिंह नेगी ने बताया कि आग की सूचना पर मौके पर टीम भेजी गई है। डीएफओ के मुताबिक 15 जून तक ही फारेस्ट फायर सीजन माना गया है। लिहाजा अग्नि रक्षक आदि को भी हटा दिया गया है।

Facebook Comments

Random Posts