गैरसैंण में राजधानी के लिए होगा संघर्ष: रावत

गैरसैंण। गैरसैंण में विधानसभा सत्र आयोजित न करने से नाराज पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत स्थानीय रामलीला मैदान में दो घंटे तक धरने पर बैठे। इस दौरान भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि गैरसैंण सत्र आयोजित न करना विधानसभा में पारित संकल्प का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि गैरसैंण को राजधानी बनाने के लिए जीवन पर्यंत संघर्ष करते रहेंगे। गैरसैंण में रोड शो के बाद धरने पर रामलीला मैदान में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने सवाल उठाया कि चारधाम यात्रा के बहाने गैरसैंण सत्र टाला गया। जो सरकार जून में सत्र का आयोजन नहीं कर पायी, वो वर्षा अथवा शीतकाल में कैसे सत्र का आयोजन करेगी। हरीश रावत ने भाजपा सरकार किसान, महिला व गरीब विरोधी करार दिया और कहा कि कन्याधन व गौरादेवी येाजना में कटौती के साथ वृद्धावस्था की योजनाओं में कमी कर सबका साथ सबका विकास का प्रचार हस्यास्पद है। उन्होंने कहा कि यदि जनता की आवाज को दबाने का काम किया गया तो कांग्रेस सड़कों पर आंदोलन करेगी।  कार्यक्रम को पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष अनुसूया प्रसाद मैखुरी, पूर्व कैबिनेट मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी, पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह भंडारी पूर्व विधायक मनोज तिवारी और पूर्व विधायक ललित फरस्वाण ने भी संबोधित किया। इससे पहले उन्होंने कर्णप्रयाग में पत्रकारों से बातचीत भी की।

Facebook Comments

Random Posts