सस्पेंड पीसीएस अफसर से एनएच घोटाले में पूछताछ

रुद्रपुर। एनएच मुआवजा घोटाले की जांच सीबीआई के टेकओवर करने के पूर्व एसआईटी तेजी से जांच को आगे बढ़ा रही है। शुक्रवार को निलंबित पीसीएस अधिकारी और तत्कालीन एसएलएओ डीपी सिंह से एसआईटी ने बंद कमरे में करीब साढ़े सात घंटे तक पूछताछ की। डीपी सिंह को जल्द दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा। एसएसपी कार्यालय में एसटीआई के विवेचक सीओ स्वतंत्र कुमार के सामने निलंबित पीसीएस अधिकारी डीपी सिंह करीब 1 बजे पेश हुए। एसआईटी के कुंदन सिंह अधिकारी और हरिनंदन जोशी भी मौजूद रहे। पूछताछ में एएसपी रुद्रपुर देवेन्द्र पिंचा भी वहां पहुंच गए। सूत्रों के मुताबिक, अधिकारियों ने डीपी से कई सवाल पूछे। पूछताछ का क्रम आगे बढ़ता चला गया और करीब आठ घंटे की पूछताछ में घोटाले से जुड़े कई अहम बिन्दुओं पर डीपी से सवाल किए गए। इस दौरान डीपी के बयान भी दर्ज किए गए। सूत्रों के मुताबिक एसआईटी ने खासतौर पर बैक डेट में की गई 143, मुआवजे की प्रक्रिया और इसके भुगतान, मुआवजे को लेकर आपत्तियों को लेकर सवाल किए। डीपी ने इन सभी सवालों के संबंध में अपना पक्ष रखा। उन्होंने एसआईटी के सामने विभिन्न बिन्दुओं पर अपने पक्ष में जबाव दिए। बिना दस्तावेज आए डीपीसूत्रों के मुताबिक, डीपी कोई दस्तावेज अपने साथ लेकर नहीं आए थे। इसके चलते क्रास परीक्षण नहीं हुआ। एसआईटी ने तय फार्मेट और अब तक तफ्तीश में आए बिन्दुओं को लेकर उनके सवाल किए। सूत्रों के मुताबिक डीपी को जल्द फिर से एसआईटी के सम्मुख प्रस्तुत होने के लिए कहा जाएगा। इस दौरान दर्जनों पन्नों में आज हुई पूछताछ के संबंध में डीपी के बयान भी दर्ज किए गए हैं। एसआईटी कर चुकी है मामले में 25 लोगों के बयान दर्ज एसआईटी अब तक एनएच मुआवजा घोटाले में 25 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है। 45 लोगों को नोटिस भेजे जा चुके हैं। अधिकारियों का कहना है कि अभी कई ओर लोगों को भी नोटिस भेजे जा रहे हैं। आज निलंबित एसडीएम अनिल शुक्ला के होंगे बयान शुक्रवार को एसआईटी को निलंबित एसडीएम अनिल शुक्ला के भी बयान दर्ज करने थे। शुक्ला सुबह आए भी लेकिन डीपी के आने के कारण उनके बयान दर्ज नहीं हो पाए। सूत्रों के मुताबिक, शनिवार एसआईटी के सामने पेश होंगे। इसके बाद अन्य निलंबित पीसीएस अधिकारियों को भी एसआईटी के सामने बयान दर्ज कराने के लिए पेश होना है। इनसेट- सीबीआई को भेजी गई एफआईआर की इंग्लिश कापी सीबीआई एनएच मुआवजा घोटाले के केस को टेकअप कर चुकी है। सूत्रों के मुताबिक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से सीबीआई के वरिष्ठ अधिकारियों ने कुछ समय पहले संपर्क साधा था। इसके बाद एनएच मुआवजा घोटाले में दर्ज एफआईआर का इंग्लिश कॉपी सीबीआई को भेजी जा चुकी है। इनसेट- डबल लॉक से दस्तावेज देने को डीएम को लिखा पत्र सीबीआई के एनएच मुआवजा घोटाले की जांच में अभी कुछ वक्त लग सकता है। वहीं एसआईटी अपनी जांच को जारी रखे हुए हैं। कुछ दिनों पहले एसएसपी डॉ. सदानंद दाते ने जिलाधिकारी ऊधमसिंह नगर डॉ. नीरज खैरवाल को पत्र लिखकर डबल लॉक में रखे एनएच से संबंधित दस्तावेजों को पुलिस के सुपुर्द करने को पत्र भी लिखा है। एसआईटी ने सर्च के बारे में कोर्ट को दी जानकारी बुधवार को तीन जिलों में एनएच मुआवजा घोटाले से संबंधित आरोपियों के ठिकानों में मारे गए छापे के संबंध में एसआईटी ने कोर्ट में जानकारी दी है। सीओ स्वतंत्र कुमार ने बताया कि सीजेएम कोर्ट में सर्च के दौरान कब्जे में लिए गए दस्तावेजों और इसकी पूरी प्रक्रिया की शुक्रवार को जानकारी दी गई।

Facebook Comments

Random Posts