पाकिस्तान के 82 तीर्थयात्रियों को ऋषिकेश में रोका, पढ़िए क्योँ

पाकिस्तान से उत्तराखंड के चमोली स्थित श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा पर आए 82 सिख श्रद्धालुओं को प्रशासन ने ऋषिकेश के गुरुद्वारे में रोक दिया। हालांकि जत्थे में शामिल सिख श्रद्धालु गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ऋषिकेश की मदद से देहरादून के प्रशासनिक अधिकारियों से मुलाकात कर रहे हैं।
लक्ष्मणझूला रोड स्थित गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष दर्शन सिंह ने बताया कि बीते मंगलवार को ननकाना साहिब, पाकिस्तान से श्रद्धालुओं का जत्था पवित्र धाम श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा के लिए निकला था। जत्थे में 30 पुरुष, 38 महिलाएं और 14 बच्चे शामिल हैं। पाक दूतावास से जारी वीजा में ऋषिकेश तक की इजाजत होने पर प्रशासन ने उन्हें श्री हेमकुंड साहिब की यात्रा में नहीं जाने दिया। श्रद्धालु तीन दिन से गुरुद्वारा में रुके हैं। पंजाब पाकिस्तान सभा के जत्थेदार सरदार प्रीतम सिंह ने बताया कि वह स्थानीय गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सहयोग से दिल्ली स्थित पाक दूतावास और देहरादून में पुलिस प्रशासन के अधिकारियों से संपर्क कर रहे हैं। शुक्रवार तक यात्रा की इजाजत मिल सकती है।
जत्थे का नेतृत्व कर रहे सरदार रंजीत सिंह गुरुवार को आढ़त बाजार स्थित गुरु सिंह सभा पहुंचे। वह देहरादून में अपने दल को जरूरी अनुमति दिलाने के लिए सभा के प्रतिनिधियों के साथ प्रयास कर रहे हैं। दल के रंजीत सिंह ने बताया कि सभी तीर्थ यात्रियों के पास मौजूद बीजा में ऋषिकेश तक की यात्रा की अनुमति है। फिलहाल दल की मदद को अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष सरदार नरेन्द्रजीत सिंह बिंद्रा आगे आए हैं और वही जरूरी कागजात की व्यवस्था करवा रहे हैं। गुरु सिंह सभा आढ़त बाजार के मीडिया प्रभारी देवेन्द्र सिंह ने बताया कि दल में अधिकांश बुजुर्ग यात्री हैं और इस उम्मीद में गुरुद्वारे में ठहरे हैं कि किसी तरह उन्हें हेमकुंड साहिब जाने की अनुमति मिल सके।
Facebook Comments

Random Posts