अल्मोड़ा में फल फूल रहा स्मैक के नशे का काला कारोबार

अल्मोड़ा में स्मैक के नशे का काला कारोबार लंबे समय से फल फूल रहा है। लेकिन इसके बाद भी पुलिस के हाथ स्मैक कारोबारियों के गिरोह तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। स्मैक के व्यापारी तराई के इलाकों से लगातार स्मैक की खेप पर्वतीय क्षेत्रों तक पहुंचा रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी इन पर नकेल कसना पुलिस के लिए चुनौती साबित होता जा रहा है।

बीते वर्ष आठ जुलाई को नगर के बेस तिराहे के पास एक स्मैक तस्कर के पकड़े जाने के बाद प्रशासन के हाथ पांव फूल गए थे। पुलिस ने स्मैक कारोबारियों पर नकेल कसने के तमाम दावे तो किए। लेकिन आज तक स्मैक तस्कर गिरोह का एक भी सदस्य पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा। स्मैक तस्कर बरेली, रुद्रपुर, हल्द्वानी जैसे महानगरों से लगातार पर्वतीय क्षेत्रों में स्मैक की सप्लाई कर रहे हैं। पिछले साल आठ जुलाई के बाद 11 सितंबर को एक बढ़ा मामला फिर तक सामने आया जब बल्टा मार्ग पर एक कमरे एक डेढ़ दर्जन से अधिक हाई प्रोफाइल घरों के बच्चे स्मैक का नशा करते हुए पकड़े गए।

कमरे से नशा करने में प्रयुक्त जले हुए नोट भी बरामद किए गए। इस घटना के बाद जहां स्मैक कारोबारियों के काले कारनामों की पोल खुलकर रह गई। वहीं पुलिस नशे के इन कारोबारियों के खिलाफ आज तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर पाई। पुलिस ने कई बार नशा करते हुए बच्चों को तो पकड़ा, लेकिन उन तक स्मैक कौन पहुंचा रहा है। इसका खुलासा करने में पुलिस आज भी नाकाम ही साबित रही है।

 

Facebook Comments

Random Posts