देह व्यापार: 55 मुकदमों के साथ देहरादून नंबर वन

           Image result for उत्तराखंड क्राइम देहरादून

शंखनाद  टुडे  देहरादून

राज्य गठन से सितम्बर 2017 तक 17 सालों में उत्तराखंड राज्य में अनैतिक व्यापार (निवारण) अधिनियम के अन्तर्गत वैश्यावृत्ति के कुल 139 मुकदमें दर्ज हुए है जबकि इस अवधि में केवल 19 अभियुक्तों को सजा हुई है जबकि 60 अभियुक्तों को न्यायालयों द्वारा रिहा कर दिया गया है। तीन मामलों में पुलिस द्वारा फाइनल रिपोर्ट भी लगाई गयी है। यह खुलासा पुलिस मुख्यालय द्वारा सूचना अधिकार के अन्तर्गत सूचना अधिकार कार्यकर्ता काशीपुर निवासी एडो. नदीम उद्दीन को उपलब्ध्करायी गयी सूचना से हुआ है।
पुलिस मुख्यालय उत्तराखंड के लोक सूचना अधिकारी से उत्तराखंड गठन से लेकर सूचना देने की तिथि तक वैश्यावृत्ति संबंधी कानून अनैतिक व्यापार (निवारण) अधिनियम के अन्तर्गत दर्ज मुकदमों तथा इस में सजा व रिहाई संबंधी सूचना  मांगी है। इसके उत्तर में पुलिस मुख्यालय के लोक सूचना अधिकारीध्सहायक पुलिस महानिरीक्षक (प्रशिक्षण) एनएस नपलच्याल द्वारा मुकदमों की वर्षवार तथा जिलावार सूचना उपलब्ध करायी है। नदीम को उपलब्ध् करायी गयी सूचना के अनुसार उत्तराखंड में वैश्यावृत्ति संबंधी कानून अनैतिक व्यापार (निवारण) अधिनियम के अन्तर्गत कुल 139 मुकदमें दर्ज हुए है जिसमें सर्वाधिक 22 22 मुकदमें वर्ष 2014 व 2015 में दर्ज हुये है। जबकि वर्ष 2001 तथा 2005 में कोई मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है।
दूसरे स्थान पर 21 मुकदमें वर्ष 2013 में दर्ज हुए है। इसके अतिरिक्त 2016 में 15 तथा 2012 व 2017 में (सूचना देने तक) 11 11 मुकदमें दर्ज हुए है। वर्ष 2010 मेें नौ, वर्ष 2009 में सात, वर्ष 2007, 2008 तथा 2011 में पांच पांच तथा वर्ष 2003 व 2004 में दो दो तथा वर्ष 2002 तथा 2006 में एक एक मुकदमा दर्ज हुआ है। एड. नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार कुल 139 मुकदमों मेें सर्वाधिक 55 मुकदमें देहरादून जिले में, दूसरे स्थान पर 27 27 मुकदमें ऊधमसिंह नगर तथा नैनीताल जिलों में, तीसरे स्थान पर 17 मुकदमें हरिद्वार जिले में दर्ज हुये है। उत्तरकाशी, रूद्रप्रयाग, चमोली जिले में कोई भी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। टिहरी अल्मोड़ा तथा बागेश्वर जिले में एक एक मुकदमा दर्ज हुआ है जबकि चम्पावत में दो तथा पौड़ी जिले में तीन तथा पिथौरागढ़ जिले में पांच मुकदमें दर्ज हुए है।
एड. नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुसार वैश्यावृत्ति संबंधी मामलों में उत्तराखंड गठन से सितम्बर 2017 तक कुल 19 अभियुक्तों को सजा हुई है जिसमें सर्वाधिक सात अभियुक्तों को नैनीताल जिले में तथा छह अभियुक्तों को पौड़ी जिले में तथा तीन तीन अभियुक्तों को देहरादून तथा हरिद्वार जिले में दर्ज वैश्यावृत्ति संबंधी मुकदमों में सजा हुई है। पुलिस द्वारा दर्ज मुकदमों में से तीन मुकदमों में फाइनल रिपोर्ट लगायी गयी है जिसमें एक एक मुकदमा देहरादून, ऊधमसिंह नगर तथा नैनीताल जिले का शामिल है। वैश्यावृत्ति संबंधी मुकदमों मेें अभी तक 60 अभियुक्तों को न्यायालयों द्वारा रिहा किया जा चुका है। जिसमें सर्वाधिक 25 अभियुक्त नैनीताल के, नौ अभियुक्त ऊधमसिंह नगर जिले के छह छह अअभियुक्त टिहरी व चम्पावत, पांच अभियुक्त पिथौरागढ़, चार अभियुक्त बागेश्वर, दो दो अभियुक्त पौड़ी तथा अल्मोड़ा तथा एक अभियुक्त देहरादून जिले के दर्ज मुकदमों का है।
Facebook Comments

Random Posts