मायावती से हाथ मिलाने के अखिलेश के बयान पर बसपा का जवाब!

maya

आपको बता दें कि अखिलेश यादव ने गुरुवार को चुनाव बाद बीएसपी से गठबंधन की संभावना से इनकार नहीं किया था। बीबीसी हिंदी के साथ फेसबुक लाइव में उन्होंने कहा कि 11 मार्च का चुनावी नतीजा उनके पक्ष में आएगा और यूपी में उनकी सरकार बनेगी।

हालांकि अखिलेश ने यह भी संकेत दिए कि चुनाव परिणामों में यदि उन्हें या किसी भी दल को बहुमत नहीं मिलता है तो राष्ट्रपति शासन की जगह वो मायावती से हाथ मिलाना पसद करेंगे।

उनसे पूछा गया कि यूपी में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत न मिलने की स्थिति में समाजवादी पार्टी की रणनीति क्या होगी। इस पर अखिलेश ने कहा कि हां, अगर सरकार के लिए जरूरत पड़ेगी तो राष्ट्रपति शासन कोई नहीं चाहेगा। हम नहीं चाहते कि यूपी को बीजेपी रिमोट कंट्रोल से चलाए।

गौरतलब है कि पांच राज्यों में मतदान खत्म होने के बाद गुरुवार को आए एग्जिट पोल में भाजपा को फायदे में दिखाया गया है। हालांकि यह पूरी तरह स्पष्ट नहीं है कि इन राज्यों में सरकार किसकी बनेगी। सभी सर्वेक्षणों में अलग-अलग दावे किए गए हैं।

इन सर्वेक्षणों के अनुसार, उत्तर प्रदेश में सपा और कांग्रेस गठबंधन दूसरे जबकि बसपा तीसरे नंबर पर है।

 

Facebook Comments

Random Posts