नगर निगम बनने पर भाजपाइयों ने फोड़े पटाखे, ग्रामीणों ने फूंका पुतला

भाजपाइयों ने कोटद्वार को नगर निगम बनाने का स्वागत करते हुए खुशी मनाई। उन्होंने एक-दूसरे को मिठाई खिलाते हुए पटाखे फोड़कर खुशी का इजहार किया। कहा कि नगर निगम बनने से लोगों को कई सुविधाओं का लाभ मिलेगा और ग्रामीण क्षेत्रों में विकास की बयार बहेगी। कोटद्वार को नगर निगम का विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है। ग्रामीणों ने प्रदेश सरकार का पुतला फूंका और नारेबाजी की। ग्राम प्रधानों ने भी मोर्चा खोलते हुए आमरण अनशन की चेतावनी देते हुए प्रदेश सरकार को उखाड़ने का प्रस्ताव पारित किया।

वहीं, भाजपा ने नगर निगम बनाए जाने पर पटाखे फोड़कर खुशी जताई। नगर निगम बनाने के विरोध में गुरुवार को नगर निगम विरोध संघर्ष समिति ने प्रदेश सरकार व क्षेत्रीय विधायक के खिलाफ नारेबाजी करते हुए देवी मंदिर तिराहे पर प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। समिति अध्यक्ष डॉ.शक्तिशैल कपरवाण ने कहा कि प्रदेश सरकार का नगर निगम का प्रस्ताव पास करना हिटलरशाही को दर्शाता है, जो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कहा कि नगर निगम के विरोध में शीघ्र ही एक बैठक होगी, जिसमें आंदोलन को तेज करते हुए कोटद्वार बंद व चक्का जाम का कार्यक्रम तय होगा। ग्राम चेतना एवं सुधार समिति की ग्राम सभा पदमपुर में हुई बैठक में ग्रामसभाओं को नगर निगम में शामिल करने पर विरोध जताया गया।

वक्ताओं ने कहा कि प्रदेश सरकार की बुद्धि-शुद्धि के लिए यज्ञ की आवश्यकता है। बैठक में बुद्धि ¨सह रावत, मदनमोहन सुंदरियाल, दिलबर ¨सह बिष्ट, मनवर ¨सह आर्य, दर्शन ¨सह भंडारी, सुभद्रा देवी शाह, नंदा रावत, हरेंद्र ¨सह नेगी व सुमोद्रा रावत आदि मौजूद रहे। उपप्रधान संघ दुगड्डा ब्लॉक की ग्रामसभा लालपुर में हुई बैठक में नगर निगम का पूर्ण विरोध करते हुए आमरण अनशन करने की चेतावनी देते हुए सरकार को जड़ से उखाड़ने का प्रस्ताव पारित किया गया। वक्ताओं ने कहा कि नगर निगम के विरोध में महारैली का आयोजन कर प्रदेश सरकार से जबाव मांगा जाएगा। बैठक में पदमेंद्र ¨सह रावत, विक्रम ¨सह रावत, दीपक रावत, सुधा देवी, पूजा देवी, राजलक्ष्मी देवी, जगदंबा देवी, प्रियंका रावत, हरीश घिल्डियाल आदि मौजूद रहे।

Facebook Comments

Random Posts