देहरादून में घूस लेते चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी रंगे हाथों गिरफ्तार

pp500

उत्तराखंड में घूसखोरी अपने चरम पर है और कोई भी काम बिना रिश्वत लिए नहीं होता ऐसा ही एक मामला देहरादून से सामने आया है। प्रदेश की राजधानी देहरादून में एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा गया है। शिकायत के आधार पर विजिलेंस टीम ने आरोपी कर्मचारी को ढाई हजार घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, देहरादून निवासी पवन थापा ने बीते माह 28 सितंबर को देवभूमि जनसेवा केंद्र में अपने पुत्र के स्थाई निवास प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया था। जानकारी के लिए वह तहसील सदर देहरादून गया और हल्का राजस्व उपनिरीक्षक जयपाल सिंह रावत से मिला।

पवन का आरोप है कि जयपाल सिंह ने कहा कि तुम्हारी फाईल आ गयी है, लेकिन प्रमाण पत्र बनना मुश्किल है। तुम मान सिंह चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से मिल लो, उसी के माध्यम से तुम्हारा काम हो जायेगा। पवन जब मान सिंह से मिला तो उसने कहा कि मूल निवास प्रमाण पत्र के लिये पैसे खर्च करने होंगे। साथ ही रिश्वत के रुप में पांच हजार रुपये की मांग की। पवन ने जब पैसे देने से इंकार किया तो मान सिंह ने उसे पैसे न देने पर उसके बेटे की गलत रिपोर्ट बनाने की धमकी दी।

काफी खुशामद के बाद आरोपी मान सिंह ढाई हजार रुपये में माना। इस संबंध में पवन ने विजिलेंस टीम को सूचना दी। पुलिस टीम ने पवन के साथ मिलकर आरोपी को रंगे हाथों पकड़ने का प्लान बनाया और जैसे ही पवन से मान सिंह ने पैसे लिए, पुलिस ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

Facebook Comments

Random Posts