अब दो साल तक जमे रहेंगे सीएमओ

देहरादून।  जिलों में तैनात सी एम ओ की तैनाती अब कम से कम दो वर्ष रहेगी। स्वास्थ्य विभाग ने यह फैसला लेने के साथ ही यह व्यवस्था भी कर दी है कि प्रमुख जिलों में संयुकत निदेशक के बजाए अपर निदेशक स्तर के अधिकारियों को ही तैनात किया जाएगा। इसी क्रम में तबादले करने के लिए अंतिम तिथि अब 15 जून कर दी गई है। इस संबंध में जल्द ही शासनादेश जारी किया जाएगा।
जिलों में सीएमओ को जल्दी-जल्दी तैनात करने व हटाने के चलते चिकित्सा सुविधाओं और व्यवस्थाओं में तमाम समस्याएं पैदा होती हैं। इसके चलते अब इन्हें लंबे समय तक तैनात करने के संबंध में स्वास्थ्य विभाग ने फैसला लिया है। तय किया गया है कि अब जिलों में सीएमओ कम से कम दो वर्ष तक तैनात रहेंगे। इस अवधि में यदि उनके विरुद्ध कोई गंभीर शिकायत प्राप्त होती है, तो जांच के बाद उन्हें हटाया जाएगा।

इसके अलावा देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल, ऊधमसिंह नगर आदि में सीएमओ उन्हें ही बनाकर भेजा जाएगा, जो अपर निदेशक स्तर के अधिकारी होंगे। अभी इन जिलों में संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारी सीएमओ बने हुए हैं। यदि अपर निदेशक तैनाती से इंकार करते हैं तो ही संयुक्त निदेशक को मौका दिया जाएगा। इसी क्रम में यह भी तय हुआ है कि तबादले की सूची जारी करने के लिए 15 जून अंतिम तिथि होगी।

दरअसल सरकार बनने और विभाग आदि बंटने के चक्कर में पूर्व में तय की गई 30 अप्रैल की तिथि तक यह कार्य संभव नहीं हो पाया है। ऐसे में तिथि बढ़ाने पर फैसला हुआ है। अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने बताया कि जल्द ही स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा सुविधाओं को बढ़ाने के लिए और महत्वपूर्ण कदम उठाए जाएंगे।
इसके अलावा नैनीताल में सीएमओ के पद पर तैनात डॉ. एलएन उप्रेती को प्रोन्नति देकर चिकित्सा स्वास्थ्य निदेशक बनाया गया है। वे जल्द ही अपना कार्यभार ग्रहण करेंगे। इसके अतिरिक्त विभाग के पूर्व महानिदेशक डॉ. राजेंद्र प्रसाद भट्ट को चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड का सलाहकार नियुक्त किया गया है। वे अवैतनिक सदस्य के रूप में कार्य करेंगे।

Facebook Comments

Random Posts