बाल मजदूरी पर सख्त हुआ आयोग

बागेश्वर में बाल संरक्षण आयोग ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 309 ए पर डामरीकरण कार्य में बाल मजदूरों को लगाने का संज्ञान लिया है। आयोग ने जिलाधिकारी को पूरे मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। इन दिनों राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 309 ए अल्मोड़ा-ताकुला मोटर मार्ग पर पौड़ी बैंड के पास डामरीकरण का कार्य चल रहा है। इसमें बच्चों से भी मजदूरी कराई जा रही है। सूचना मिलने पर बाल संरक्षण आयोग के सदस्य ललित सिंह दोसाद ने पूरे मामले की जांच की।

आयोग के सदस्य ललित सिंह दोसाद ने बताया कि डामरीकरण का कार्य खतरनाक श्रेणी में आता है। ऐसे में दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। दोसाद की रिपोर्ट पर बाल संरक्षण आयोग के अनुसचिव डॉ. शक्ति प्रसाद सेमवाल ने जिलाधिकारी को पूरे मामले की तत्काल जांच कर आयोग को बताने के निर्देश दिए है।

एनएच खंड के सहायक अभियंता हितेश कांडपाल ने बताया कि यहां पर जुनेजा कंट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड डामरीकरण का काम कर रही है। वहां पर कोई भी बाल मजदूरी नही कराई जा रही है। अगर ऐसी जानकारी मिली है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं बागेश्वर की जिलाधिकारी का कहना है कि बाल मजदूरी अपराध है। पूरे मामले की जांच की जाएगी और दोषियों पर कार्रवाई होगी।

 

 

Facebook Comments

Random Posts