खटाई में पड़ा डोबरा चांटी का पुल का निर्माण

नई टिहरी में देश का सबसे बड़ा सस्पेंशन मोटर पुल डोबरा-चांटी में काम कर रहे 119 श्रमिकों ने हड़ताल शुरू कर दी है। श्रमिकों का पिछले दो महीने से वेतन नहीं मिला है। जुलाई से केंद्र सरकार ने डोबरा पुल निर्माण के लिए बजट नहीं दिया है, जिस कारण पुल का निर्माण कार्य फिर से लटक गया है। टिहरी झील के ऊपर बन रहे देश के सबसे बड़े सस्पेंशन पुल डोबरा- चांटी निर्माण का काम फिर से खटाई में पड़ गया है।

बीती 13 अक्टूबर से यहां पर काम कर रहे 119 श्रमिक हड़ताल पर चल रहे हैं जिस वजह से पुल का काम नहीं हो पाया है। जुलाई माह में केंद्र सरकार की तरफ से पुल निर्माण के लिए 75 करोड़ रुपये का बजट जारी होना था, लेकिन बजट नहीं मिल पाया। इससे लोनिवि निर्माण कर रहे प्रिल कंपनी को पांच करोड़ रुपये का भुगतान नहीं कर पाया है। इससे कंपनी के श्रमिकों को भी दो महीने से वेतन नहीं मिल पाया है। जिससे श्रमिक 13 अक्टूबर से काम नहीं कर रहे हैं।

हालांकि लोनिवि का कहना है कि कंपनी से वार्ता के बाद कुछ श्रमिकों ने काम करने की हामी भरी है। जल्द ही उनका वेतन मिलेगा तो दोबारा से काम शुरू कर दिया जाएगा। पुल के कैटवॉक का काम पूरा कर दिया है। अब पुल के दोनों सिरों पर लोहे के रस्से खींचने का काम शुरू होना है। श्रमिकों की हड़ताल से यह काम नहीं हो पा रहा है। अगर श्रमिक हड़ताल नहीं करते तो अभी तक रस्से खींचने का काम शुरू कर दिया जाता।

Facebook Comments

Random Posts