सरकारी योजनाओं में आधार से खत्म होगा भ्रष्टाचार

बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने किसान भवन रिंग रोड में खाद सब्सिडी योजना का शुभारंभ किया। इस योजना के तहत सब्सिडी वाली खाद की बिक्री भी बिना आधार के नहीं हो सकेगी। अब कोई भी बिना आधार के सब्सिडी की खाद नहीं ले सकेगा। योजना का शुभारंभ करते हुए सीएम ने के अवसर पर चार किसानों को मौके पर ही सब्सिडी की खाद और 19 विक्रेताओं को प्वाइंट आफ सेल (पीओएस) मशीन दी। सीएम ने कहा कि सही व्यक्ति तक सब्सिडी का लाभ पहुंचाने को इस योजना की शुरूआत की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब तक हर साल 475 करोड़ सब्सिडी दी जाती थी। जो लाभार्थी तक पहुंचती भी थी या नहीं ये कहना मुश्किल है। हर योजना को आधार से जोड़कर पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त बनाना सरकार की प्राथमिकता है।

किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार सहन नहीं किया जाएगा। जो भी गलत करेगा उसके खिलाफ कार्रवाई जरूर होगी चाहे वो कोई भी हो। उन्होंने खुशी जताई कि इस योजना को सबसे पहले लागू करने वाले पांच राज्यों में उत्तराखंड भी शामिल हो गया है। कृषि सचिव डी सेंथिल पांडियन ने बताया कि इस योजना से सब्सिडी की खाद के वितरण में पारदर्शिता आएगी। किसानों की आय दोगुनी करने को लेकर 15 नवंबर को एक कार्यशाला के आयोजन की भी जानकारी उन्होंने दी। रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ ने कहा कि किसानों को इसका सीधा लाभ होगा जो कि अब तक नहीं होता था।

 

Facebook Comments

Random Posts