5जी स्पीड के साथ डेटा स्पीड भी बेहतर मिलेगा पढ़िए कब से ….

एयरटेल ने भारत की 5जी क्षमता से लैस पहली टैक्नोलॉजी मैसिव मीमो लगाने की घोषणा की
 भारत के सबसे बड़े दूरसंचार सेवा प्रदाता भारती एयरटेल ने भारत में पहली बार अत्याधुनिक मैसिव मल्टीपल-इनपुट मल्टीपल-आउटपुट (मीमो) टैक्नोलॉजी लगाने की घोषणा की है जो 5जी नेटवर्कों के लिए प्रमुख आधार है। अपने नेटवर्क को मैसिव मीमो इनेबल्ड बनाने के साथ ही एयरटेल के इस कदम से भारत आज दुनिया के उन चुनींदा देशों में शामिल हो चुका है जो इस टैक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर डिजिटल क्रांति को आगे ले जा रहे हैं। एयरटेल ने सबसे पहले बेंगलुरु और कोलकाता में इसकी शुरूआत की है जहां से जल्द ही देश के अन्य भागों में भी इसे पहुंचाने की योजना है।
प्रोजेक्ट लीप के तहत्, मैसिव मीमो टैक्नोलॉजी मौजूदा स्पैक्ट्रम का इस्तेमाल कर नेटवर्क की वर्तमान क्षमता को पांच से सात गुना तक बढ़ाएगी और इस तरह स्पैक्ट्रल एफिशिएंसी को बेहतर बनाएगी। ग्राहकों को मौजूदा 4जी नेटवर्क पर ही दो से तीन गुना अधिक सुपरफास्ट स्पीड का लाभ मिलेगा। डेटा स्पीड भी बेहतर होगी जिससे इंडोर, भीड़-भाड़ वाली जगहों और बहुमंजिला इमारतों में भी यूज़र अनुभव में सुधार आएगा। इसके चलते, मल्टीपल यूज़र्स को बिना किसी कन्जेशन के मल्टीपल डिवाइसेज़ पर काम करने की सुविधा मिलेगी और खासतौर से हॉटस्पॉट लोकेशंस पर उनके अनुभव पहले से बेहतर होंगे।
मैसिव मीमो आने वाले दौर में टैक्नोलॉजी के मोर्चे पर क्रांति रचने के लिए मजबूत आधार है। यह प्री-5ली टैक्नोलॉजी है जो भारत में डिजिटल क्रांति और डेटा विस्फोट के चलते पैदा होने वाली भारी मांग को पूरा करने के लिहाज से नेटवर्क को तैयार करेगी। ग्राहक बिना किसी अपग्रेड या प्लान बदलवाए हुए ही अपने मौजूदा 4जी मोबाइल डिवाइसों पर तेज रफ्तार डेटा स्पीड का आनंद ले सकते हैं। मैसिव मीमो वास्तव में, ग्रीन टैक्नोलॉजी है जो कार्बन फुटप्रिंट कम करने में मददगार है।
भारती एयरटेल ने कहा, ’’भारत तेजी से डेटा विस्तार की तरफ बढ़ रहा है। मैसिव मीमो टैक्नोलॉजी को लागू करने के बाद हम इस मांग को कुशलतापूर्वक पूरा कर सकते हैं और भविष्य की जरूरतों के हिसाब से नेटवर्क बना सकते हैं। इस टैक्नोलॉजी को लगाने के बाद हमारे ग्राहकों को तेज रफ्तार डेटा और बेहतर अनुभव मिलेगा और इस तरह हमारी स्पैक्ट्रम एफिशिएंसी में सुधार होगा।‘‘
मैसिव मीमो टैक्नोलॉजी अपने कवरेज फुटप्रिंट के दायरे में स्थित यूज़र्स के लिए हॉरिज़ॉन्टल और वर्टिकल प्लेंस पर 3डी बीम्स उपलब्ध कराती है। इससे कवरेज में सुधार होता है और अलग-अलग बीम्स पर भी हस्तक्षेप भी कम होगा, जिसके परिणामस्वरूप सिग्नल क्वालिटी में सुधार आएगा। इस तरह, मौजूदा रिसोर्स ब्लॉक पर ही बेहतर सिग्नल क्वालिटी मिलने से यूज़र अनुभव, सैल क्षमता और स्पैक्ट्रम एफिशिएंसी में सुधार होता है।
एयरटेल ने हाल में कोरियाई दूरसंचार सेवा प्रदाता एस के टेलीकॉम के साथ भी एक महत्वपूर्ण भागीदारी की घोषणा की है जो भारत में इसे सर्वाधिक उन्नत दूरसंचार नेटवर्क तैयार करने में मददगार साबित होगी। इस भागीदारी के तहत्, एयरटेल और एसकेटी मिलकर भारतीय संदर्भ में, 5जी के उन्नत मानक, नेटवर्क फंक्शंस वर्चुलाइज़ेशन (एन.एफ.वी.), सॉफ्टवेयर-डिफाइंड नेटवर्किंग (एसडीएन) और इंटरनेट ऑफ थिंग्स के लिए परस्पर सहयोगपूर्वक काम करेंगे।
भारती एयरटेल लिमिटेड दुनिया की अग्रणी टेलीकम्युनिकेशंस कंपनी है जो एशिया और अफ्रीका के 17 देशों मंे परिचालन करती है। इसका मुख्यालय भारत की राजधानी नई दिल्ली में है और कुल उपभोक्ताओं की संख्या के हिसाब से यह दुनिया की तीन शीर्ष मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियों मंे शामिल है। भारत मंे कंपनी की सेवाओं मंे 2जी 3जी और 4जी वायरलैस सेवाएं, मोबाइल कॉमर्स, फिक्स्ड लाइन सर्विस, हाइ स्पीड डीएसएल ब्रॉडबैंड, आईपीटीवी, डीटीएच और कैरियर्स के लिए लंबी दूरी की राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय सेवाओं सहित एंटरप्राइज सर्विसेज़ शामिल हैं। दुनिया के दूसरे देशों मंे कंपनी 2जी, 3जी तथा 4जी वायरलैस सेवाएं और मोबाइल कॉमर्स सेवाएं दे रही है। जुलाई 2017 के अंत तक भारती एयरटेल के पास 381 मिलियन से अधिक उपभोक्ता थे।
Facebook Comments

Random Posts