पैदल चल ताड़ीखेत पहुंचे डीएम

p10-1

 

अल्मोड़ा / शासन की प्राथमिकता के अनुसार जनता के द्वार जाकर मौके पर ही जन समस्याओं के निस्तारण को प्राथमिकता देते हुये जिलाधिकारी सविन बंसल ने आज विकासखंड ताड़ीखेत के ग्राम पजीना में मोटर रोड से 06 किमी पैदल चलकर जन समस्यायें सुनी। इस दौरान अधिकारियों की बैठक में उन्होंने सख्त दिशा-निर्देश भी जारी किये।

उन्होंने कहा कि आवास योजना के अन्तर्गत जो भी आवेदन पत्र प्राप्त हुये है उनका परीक्षण किया जायेगा। आवासों की स्थिति के लिये  विकास खंड ताड़ीखेत अधिकारी  को निर्देश दिये कि वह आवासों के सम्बन्ध में गहनता से जांच कर कृत कार्यवाही से अवगत करायेंगे इस कार्य मे लापरवाही किसी भी स्तर पर बर्दाश नही होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे बड़ी समस्या जंगली जानवरों के नुकसान की है, जिसके लिये वन विभाग व कृषि विभाग द्वारा संयुक्त कार्य योजना बनाई जा रही है ताकि इस समस्या से निजात मिल सके। जिलाधिकारी ने कहा कि विकास खंड ताड़ीखेत में मौसमी सब्जी का उत्पादन अधिक मात्रा में होता है इसलिये भी हमें इस ओर ध्यान देना होगा। ईड़ा चैरासी मोटर मार्ग तथा कोसी में स्वीकृत मोटर पूल आदि के सम्बन्ध में अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की और वस्तुस्थिति से अवगत कराने के निर्देश दिये। उन्होंने शेर पंम्पिंग योजना के बारे में जानकारी प्राप्त की और उसका स्थलीय निरीक्षण भी किया। ग्राम जाख, ईडा, खुदोली, कनार में विद्युत पोल बदलने के निर्देश अधिशासी अभियन्ता विद्युत को दिये। क्षेत्रवासियों ने ईड़ा क्षेत्र पंचायत के अन्तर्गत स्थापित 06 विद्यालयों में अध्यापक मानक के अनुसार कम होने एवं उसी क्षेत्र में जूनियर हाईस्कूल इंटर कालेज में अध्यपकों के रिक्त पदों को भरने की बात कही। जिलाधिकारी ने इस पर आश्वस्त किया कि इस ओर विशेष ध्यान दिया जायेगा। जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि इस क्षेत्र के अन्तर्गत समाज कल्याण विभाग द्वारा जो पेंशनें स्वीकृत की गई है उसका लाभ पात्र लोगों को मिल रहा है या नही इसकी जांच करने साथ ही जिन्हें पेंशन उपलब्ध नही हो पा रही है उसकी स्थिति से तुरन्त अवगत करायें। पशु चिकित्सालय काकड़ीघाट और शेर पशु चिकित्सक न होने की शिकायत पर उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी से कहा कि इसकी सूचना से तुरन्त सम्बन्धित विभाग से जानकारी प्राप्त की जाये। इसके अलावा उन्होंने अन्य क्षेत्रीय समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। इससे पूर्व ग्राम पजीना पहुंचने पर जिलाधिकारी का ग्रामीणों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। इस अवसर पर कुल 45 शिकायतें प्राप्त हुई जिनमें से अधिकाश शिकायतें समाज कल्याण, पेयजल, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य से सम्बन्धित थी अधिकांश का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया। बैठक में बीपीएल परिवार व परिवार रजिस्ट्रर की नकल के साथ वृद्धावस्था, विधवा पेंशन के फार्म भरे गये। इस शिविर में वलनी, नौगाॅव, वहरों, ईड़ा, भगडोपी, समदीन,रिकोशा, शेर के ग्रामीणों ने भाग लिया इस शिविर में आधार कार्ड भी बनाये गये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी जेएस नागन्याल, उपजिलाधिकारी रानीखेत रजा अब्बास, तहसीलदार नितेश डांगर, खण्ड विकास अधिकारी ताड़ीखेत एमसी जोशी, जिला पंचायत सदस्य चन्दन राम, क्षेत्र पंचायत सदस्य सरिता पफत्र्याल व गजेन्द्र पफत्र्याल, ग्राम प्रधान पजीना श्रीमती गंगा देवी, ग्राम प्रधान कनरा सुरेन्द्र कुमार, गोपाल सिंह, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. योगेश पुरोहित सहित अनेक अधिकारियों और गणमान्य लोग उपस्थित थे। संचालन तहसीलदार नितेश डांगर ने किया।

 

 

 

Facebook Comments

Random Posts