आप जानते है खजूर (छुहारे) खाने के फायदे और नुकसान ….

0

 

खजूर (छुहारा) एक तरह का सूखा मेवा है। खजूर खाना सबको पसंद आता है क्योंकि यह स्वाद में बहुत ही अच्छा होता है। ठंड के दिनों में तो लोग इसे अक्सर खाते हैं। खजूर खाना सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है। खजूर विटामिन्स और मिनरल्स का उच्च स्रोत है। यह ना केवल आपकी सेहत को, बल्कि आपके बालों और त्वचा को भी बहुत सारे फायदे पहुँचाता है। इसमें कई गुण हैं, इसलिए आपको इसे नियमित खाना चाहिए। खजूर को लोग अलग अलग तरह से खाना पसंद करते हैं। कुछ लोग इसे दूध और दही के साथ खाना पसंद करते हैं, तो कुछ लोग इसे बहुत ज़्यादा स्वादिष्ट बनाने के लिए ब्रेड और बटर के साथ खाना पसंद करते हैं। खजूर के फायदों को देखते हुए इसे मांसपेशियों के विकास के लिए सबसे फायदेमंद माना गया है। बूढ़े और बच्चों को इसे पेस्ट बनाकर देना चाहिए और यदि वो बीमार हैं या किसी तरह की चोट से उभर रहे हैं तो फिर यह उनके लिए और भी अधिक फायदेमंद होता है। आइए इसके बारे में और जानें

खजूर के फायदे 1

  • छुहारा के फायदे हड्डियों को करें मज़बूत
  • खजूर के लाभ वजन घटाने में
  • खजूर और दूध के फायदे खाँसी जुकाम में
  • छुहारों में पोटैशियम पाया जाता है जो बुरे कोलेस्टरॉल याने की LDL को खत्म करता है। इससे स्ट्रोक आने की संभावना कम होती है।
  •  खजूर लौह तत्वो का अच्छा स्रोत है। इसलिए जो लोग एनीमिया का शिकार हैं, उन्हें खजूर का सेवन ज़रूर करना चाहिए।
  •  विटामिन की कमी से आपके बाल कमजोर हो जाते हैं। खजूर में मौजूद विटामिन बी आपके बालो को गिरने से बचाता है और मजबूत बनाता है।
  •  खजूर पेट में कैंसर होने की संभावना को भी कम करता है। इसलिए इसे अपनी डेली हैबिट में ज़रूर शामिल कर लेना चाहिए।

 

खजूर खाने के नुकसान

  • उच्च रक्त शर्करा से बचने के लिए खजूर की खपत को सीमित करें क्योंकि इनमें चीनी का उच्च स्तर होता है। लेकिन सभी प्रकार के खजूर हानिकारक नहीं हैं। सूखे खजूर का उच्च ग्लाइसेमिक सूचकांक होता है
  • हालांकि खजूर फाइबर सामग्री से समृद्ध हैं और फाइबर वजन घटाने में सहायक हैं, परंतु अपने आहार में खजूर की एक बड़ी राशि लेने से कैलोरी काफी बढ़ जाती हैं, जिससे वजन बढ़ता है।
  •  जब आप फाइबर बहुत लेते हैं, तो पेट में दर्द होता है। सल्फाइट एक रासायनिक यौगिक है जो खजूर की बनावट और चमक बनाए रखने के लिए उसमें डाला जाता है। अगर आप सल्फाइट के प्रति संवेदनशील हैं, तो सूजन, पेट में दर्द और दस्त जैसी जटिलताएं पैदा हो सकती हैं।
  •  खजूर में हिस्टामिन काफी होता है जो एलर्जी का कारण हो सकता है। खजूर में पाए जाने वाला सैलिसिलेट भी एलर्जी के लक्षणों का कारण हो सकता है।
  •  ज्यादा छुहारा खाने से दांत की सड़न भी हो सकती है।
  • बच्चों के लिए, खजूर काफी मोटेऔर पचाने में मुश्किल हैं। उनके दांत और आंत खजूर जैसे खाद्य पदार्थों को पचाने के लिए अभी भी काफी मजबूत नहीं होते इसलिए अच्छा होगा कि उन्हें ये ना खिलाएं
  •  दमा की परेशानी में सुबह शाम दो-दो छुहारे चबा कर खाने से राहत मिलती है।
  •  शीघ्रपतन की समस्या में लगातार खाली पेट तीन महीनों तक छुहारे का सेवन करने से इस समस्या से निजाद मिलती है।

खजूर काफ़ी स्वादिष्ट होते हैं इसलिए इनके नुकसान से बचने के लिए यह ज़रूरी है कि इन्हें सीमित मात्रा में ही खाया जाए।

Facebook Comments

Random Posts