देहरादून में दो प्रतिष्ठानों पर ईडी के छापे, मचा हड़कंप

ed500-copy-jpg

नोटबंदी के बाद कालाधन छिपाने और उसको सफेद करने में लगे लोगों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का डंडा चला है। ईडी ने शहर में दो व्यापारिक प्रतिष्ठानों में अवैध रूप से चल रहे फाॅरेन करेंसी एक्सचेंज का भंडाफोड़ किया है। मौके से ईडी की टीम को लाखों रुपये की फाॅरेन करेंसी व अवैध व्यापार के दस्तावेज हाथ लगे हैं। ईडी की इस कार्रवाई से शहर में हड़कंप मच गया है। बताते चले कि प्रदेश में फाॅरेन मनी एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट ;फेमाद्ध के तहत कार्रवाई का यह पहला मामला है। ईडी के अधिकारियों ने यहां बताया कि घंटाघर स्थित सहदेव ज्वेलर्स व राजपुर रोड स्थित कपड़ों के शोरूम लास वेगास में फाॅरेन करेंसी एक्सचेंज ;विदेशी मुद्रा विनिमयद्ध का अवैध रूप से धंधा चलने की गोपनीय सूचनाएं मिल रही थीं। इस पर ईडी के सहायक निदेशक पीके चैधरी के नेतृत्व में छापेमारी की गई।

छापे में दोनों प्रतिष्ठानों से लाखों रुपये के डाॅलर, यूरो, येन, थाई बाट बरामद किए गए। सभी करेंसी कब्जे में ले ली गई है। इसके साथ ही ईडी टीम को मौके से बड़े पैमाने पर अवैध करेंसी एक्सचेंज के दस्तावेज मिले। इन्हें सभी को कब्जे में ले लिया गया है। ईडी सहायक निदेशक पीके चैधरी के मुताबिक दोनों प्रतिष्ठान संचालकों के खिलाफ फाॅरेन मनी एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट (फेमा) के तहत कार्रवाई शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि जरूरत पडने पर मामले में संचालकों की गिरफ्तारी भी की जा सकती है। नोटबंदी के बाद से ही ईडी फाॅरेन करेंसी एक्सचेंज की गतिविधियों पर नजर रखे था। सहायक निदेशक चैधरी ने बताया कि कई और प्रतिष्ठान ईडी के रडार पर हैं। 500 व 1000 रुपये के पुराने नोटों से करेंसी एक्सचेंज की भी पड़ताल की जा रही है।

Facebook Comments

Random Posts