जीवीके कंपनी निदेशक के खिलाफ मुकदमा दर्ज पढ़िए क्योँ किसने कराया

जल विद्युत परियोजना का निर्माण करने वाली जीवीके कंपनी द्वारा वर्षों से जनता की समस्या का हल न करने के आरोप में एसडीएम कीर्तिनगर नुपूर वर्मा ने तीन मामलों में जीवीके कंपनी के निदेशक प्रसन्ना रेड्डी और समन्वयक संतोष रेड्डी के खिलाफ पब्लिक न्यूसेंस के तहत मुकदमा दर्ज कराया है

 
जल विद्युत परियोजना का निर्माण करने वाली जीवीके कंपनी द्वारा वर्षों से जनता की समस्या का हल न करने के आरोप में एसडीएम कीर्तिनगर नुपूर वर्मा ने तीन मामलों में जीवीके कंपनी के निदेशक प्रसन्ना रेड्डी और समन्वयक संतोष रेड्डी के खिलाफ पब्लिक न्यूसेंस के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। इस कदम पर क्षेत्रीय लोगों ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि कीर्तिनगर में प्रशासन पहली बार जीवीके से निडर होकर जनता हित में बेहतर कदम उठा रहा है। कंपनी ने अभी तक चौरास क्षेत्र की सड़क, बैराग्ना से किलकिश्वर सड़क की मरम्मत नहीं कराई है। इसके अलावा मंजाकोट व थापली गांव से गुजरने वाले नाले में जीवीके कंपनी की नहर की गंदगी डाल दी जाती है। नाले की सफाई न होने से बरसात के दिनों में गांव में गंदगी फैल रही है। लोग कंपनी से कई बार नाले की सफाई की मांग कर चुके हैं, लेकिन कंपनी ने कुछ नहीं किया। जनता के आक्रोश को देखते हुए एवं जनहित से जुड़े कार्य न करने पर एसडीएम कीर्तिनगर नुपूर वर्मा ने कंपनी के निदेशक प्रसन्ना रेड्डी एवं समन्वयक संतोष रेड्डी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया है। एसडीएम ने बताया कि लोनिवि कीर्तिनगर ने बैरागना से किलकिलेश्वर तक सड़क बनाने का लिखित पत्र दिया है। इस पर लोनिवि को जल्द सड़क ठीक करने के निर्देश दिए गए हैं। जबकि अन्य मामलों में जीवीके कंपनी काम करने के लिए राजी हुई है। यदि समय रहते जीवीके कंपनी काम पूरा नहीं करेगी तो उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इधर लोगों ने एसडीएम की कार्रवाई की प्रशंसा की है। उनका कहना है कि कंपनी के खिलाफ ऐसी ही सख्त कार्रवाई की जरूरत थी।
Facebook Comments

Random Posts