कार्बेट पार्क में निजी वाहन से प्रवेश में मिली छूट

पौड़ी गढ़वाल जिले के कोटद्वार से कार्बेट नेशनल पार्क की सैर के लिए कार्बेट प्रशासन पर्यटकों को लुभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा। इसके लिए यहां दोनों ट्रैक पर नियमों में ढील दी गई है। नैनीताल जिले के रामनगर से प्रवेश करने वाले पर्यटक पार्क में निजी वाहन लेकर नहीं जा सकते, लेकिन यहां ऐसा प्रतिबंध नहीं होगा। हालांकि प्रभागीय वनाधिकारी अंजनी कुमार का कहना है कि व्यावहारिकता के दृष्टिगत फिलहाल ये व्यवस्था की गई है। कोटद्वार में रामनगर जैसे संसाधन नहीं है। जिप्सी और गाइड की संख्या सीमित है। संसाधन बढ़ाने की कवायद की जा रही है।

रविवार को कोटद्वार से कार्बेट नेशनल पार्क में प्रवेश के लिए दूसरा गेट भी खोल दिया गया है। अब तक सैलानी सिर्फ रामनगर से ही पार्क में प्रवेश करते थे। सैलानियों को आकर्षित करने के लिए नियमों को शिथिल किया गया है। रामनगर से प्रवेश करने वाले पर्यटकों के लिए गाइड अनिवार्य है, लेकिन यहां से बिना गाइड के भी प्रवेश किया जा सकता है।

कोटद्वार से सटा सोना नदी वन्य जीव विहार में सैलानियों के लिए खास आकर्षण है। इसके अलावा मैदावन -लोहाचैड -दुर्गा देवी गेट के साथ ही पाखरो-हाथीकुंड-मोरघट्टी गेट को जंगल सफारी के लिए खोला गया है। मैदावन-लोहाचैड -दुर्गा देवी गेट वाला ट्रैक करीब 16 किलोमीटर और पाखरो -हाथीकुंड-मोरघट्टी वाला ट्रैक करीब 12 किलोमीटर लंबा है।

रविवार को मुख्यमंत्री ने प्रवेश द्वार का शुभारंभ कर छह जिप्सियों में सवार तीस पर्यटकों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दूसरे दिन यहां सन्नाटा पसरा रहा। प्रभागीय वनाधिकारी अंजनी कुमार ने कहा कि अभी पर्यटकों को इसकी जानकारी नहीं है, जैसे-जैसे प्रचार प्रसार बढ़ेगी सैलानियों की तादाद भी बढगी। उन्होंने कहा कि पर्यटक भले न आया हो, लेकिन काफी लोगों ने इस बारे में पूछताछ कक्ष से जानकारी ली है।

 

Facebook Comments

Random Posts