बाप ने नशे में बेटे के पेट में घोंपी बोतल

नैनीताल में नशे में धुत बाप बेटे के बीच मारपीट हो गई। घर में तोड़फोड़ कर रहा बेटा नहीं माना तो बाप ने टूटी बोतल उसके पेट में घुसा दी। जिससे उसकी आत बाहर आ गई। आननफानन में पड़ोसी उसे बीडी पांडेय अस्पताल ले गए। पाच चिकित्सकों की टीम ने उसका अपरेशन किया, जिसके बाद गंभीर अवस्था में हल्द्वानी रेफर कर दिया। वारदात की वजह से परिवार के अन्य लोग व पड़ोसी सहमे हुए हैं। हैरतअंगेज तथ्य यह है कि वारदात के बाप खुद ही सूचना देने कोतवाली पहुंच गया।

स्टाफ हाउस निवासी हरीश लाल मल्लीताल फ्लैट्स पार्किंग जाने वाली सड़क किनारे लकड़ी की मूर्तिया व गिफ्ट आइटम बनाकर बेचता है। उसका 22 वर्षीय बेटा ध्रुव कुमार झील में नाव चलाता है। दोनों अक्सर शराब पीकर झगड़ा करते रहते हैं। शुक्रवार की रात नौ बजे ध्रुव व उसके पिता घर पहुंचे तो नशे में दोनों भिड़ गए। इसी दौरान बेटे ने घर में तोड़फोड़ शुरू कर दी तो बाप आपा खो बैठा और उसने टूटी हुई बोतल बेटे के पेट में घुसा दी। जिसके बाद ध्रुव लहूलुहान होकर वहीं गिर पड़ा। इसके बाद हरीश लाल खुद ही कोतवाली पहुंचा और पुलिस को सूचना दी।

इधर, हो-हल्ला सुनने के बाद घर में तड़प रहे ध्रुव को पड़ोसी बीडी पाडेय अस्पताल ले गए। चिकित्सकों ने ऑपरेशन कर पेट से बोतल का काच निकाला। इसके बाद हल्द्वानी के लिए रेफर कर दिया। सूचना पर कोतवाली के एसआइ बीसी मासीवाल भी पहुंचे। करीब एक घटे इंतजार के बाद भी अस्पताल की एंबुलेंस का चालक नहीं पहुंचा तो पुलिस ने संपर्क साधा। रात करीब दस बजे उसे हल्द्वानी ले गए। चालक की लेटलतीफी को लेकर लोग बेहद गुस्से में थे। उनका कहना था कि गरीब तबके के लोगों को ले जाने में देर की जाती है।

 

 

Facebook Comments

Random Posts