डोभाल से लेकर योगी तक, देश के शीर्ष पदों पर पौड़ी के लोगों का दबदबा

17392915_895494467260357_591045344_n

 

त्रिवेन्द्र सिंह रावत को उत्तराखंड का मुख्यमंत्री और योगीआदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाए जाने के बाद सोशल साइट पर पौड़ी के लाल धमाल मचा रहे है यहाँ ट्रेंड तेजी से चल रहा है पौड़ी जिले मे जन्मे दोनों मुख्यमंत्री और भारत सरकार मे उच्च पादों पर अजीत डोभाल , थल सेना प्रमुख विपिन सिंह रावत ,अनिल धस्माना , राजेंद्र सिंह व अन्य लोग भारत के उच्च पदों पर है पहले उत्तराखंड और अब उत्तर प्रदेश को मुखिया मिलने के साथ ही उत्तराखंड के जिले पौड़ी का जिक्र इन दिनों आम हो चला है। दरअसल, इस जिले ने कुछ ही घंटों के भीतर देश के दो सूबों को उनके मुख्यमंत्री दिए हैं। उत्तर प्रदेश में जहां सत्ता की कमान योगी आदित्यनाथ के हाथ में आ गई है वहीं उत्तराखंड में त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सत्ता संभाली ली है। इन दोनों का ही जन्म पौड़ी में हुआ है। इन दिनों पौड़ी चर्चा में इसलिए भी है कि क्योंकि पिछले कुछ समय में इस जिले के लोगों ने राष्ट्रीय पटल पर अपनी धमक दिखाई है। देश में मुख्यधारा की राजनीति हो या कोई बड़ा संवैधानिक पद, पौड़ी के लोगों का वर्चस्व बढ़ा है। भारतीय थलसेना प्रमुख बिपिन रावत, रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) का चीफ अनिल धस्माना, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, भारतीय तटरक्षक बल के महानिदेशक राजेंद्र सिंह और यहां तक कि प्रधानमंत्री के सचिव भास्कर खुल्बे, ये सभी उत्तराखंड के इस छोटे से जिले से ताल्लुक रखते हैं।
उत्तराखंड को दिए हैं चार मुख्यमंत्री
उत्तराखंड राज्य के अस्तित्व में आने के बाद, राजनीति के छोटे से अंतराल में ही इस जिले ने राज्य को चार मुख्यमंत्री दिए हैं। 2007 में हुए विधानसभा चुनावों के बाद मुख्यमंत्री बने भुवन चंद्र खंडूरी पौड़ी के ही रहने वाले थे। बाद में उन्होंने धुमाकोट विधानसभा सीट से ही उपचुनाव जीता। इसी सरकार में मुख्यमंत्री बने डा. रमेश पोखरियाल निशंक भी पौड़ी के ही निवासी थे। 2012 की कांग्रेस सरकार में विजय बहुगुणा राज्य के मुख्यमंत्री बने। वे भी बुघाड़ी पौड़ी के मूल निवासी थे। हाल ही में कुर्सी संभालने वाले त्रिवेंद्र रावत भी पौड़ी के खैरासैण में ही पैदा हुए हैं। अगर उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ को भी इसमें मिला लें तो कह सकते हैं कि भारतीय राजनीति में अब तक इस छोटे से राज्य ने 5 मुख्यमंत्री दिए हैं। अजय सिंह बिष्ट मूल नाम वाले योगी आदित्यनाथ ने गढ़वाल यूनिवर्सिटी से ही स्नातक किया है। 26 साल की उम्र में वह पहली बार विधायक बने थे। अब 45 साल की उम्र में उन्होंने यूपी के सीएम पद की कमान संभाली है।

Facebook Comments

Random Posts