हंस फांउडेशन ने की पत्रकारों के कल्याण के लिए 50 लाख की घोषणा

हंस फांउडेशन ने की पत्रकारों के कल्याण के लिए 50 लाख की घोषणा
 समाजिक संस्था हंस कल्चरल सेंटर एवं द हंस फाउंडेशन के भोले  महाराज एवं माता मंगला ने पत्रकारों के कल्याण के लिए 50 लाख रूपये के कल्याण कोष व महिला पत्रकारों के लिए क्लब में महिला कक्ष निर्माण के लिए पांच लाख की घोषणा की। उन्होंने कक्ष निर्माण की शुरूआत के लिए ढाई लाख रूपये का चेक भी प्रेस क्लब को भेंट किया।
रविवार को उत्तरांचल प्रेस क्लब सभागार में आयोजित प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में पधारे हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोले महाराज एंव माता मंगला ने पत्रकारों व उनके परिजनों के गंभीर बीमारी में मदद करने की बात कही। हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोला महाराज एवं मंगला माता ने कहा कि संस्था का एकमात्र उद्देश्य मानव सेवा करना है इसके लिए वह प्रयासरत है। इस अवसर पर माता मंगला जी ने कहा कि पत्रकारिता राष्ट्रीयता व मूल्यों के आधार पर होनी चाहिए। पत्रकारों की भूमिका सार्थक दिशा में हो। चुनौतियां बहुत हैं, पर उन्हीं चुनौतियों में से रास्ते भी निकलते हैं। माता मंगला जी ने कहा कि पत्रकारिता सनसनी पैदा करने वाला उपकरण नही बनना चाहिए। पत्रकारों को विचार कर अध्यात्म, संस्कृति व मिट्टी का स्थान कैसे बढ़े, इस पर सोचकर लिखना चाहिए। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता एक प्रकार का धर्म है। सकारात्मक पत्रकारिता वही होती है जो मूल्यों के आधार पर चलती है।
फाउंडेशन कुष्ठ रोगी, विधवा, विकलांग व निराश्रित पेंशन वितरित कर रहा है सतपुली में मेडिकल कॉलेज एंड हास्पिटल का कार्य कर रहा है। हरिद्वार में नेत्र चिकित्सालय व मेडिकल कॉलेज के लिए एक हजार करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट तैयार किया जा रहा है। उत्तराखंड के दूरस्थ गांवों को स्वास्थ्य सेवाओं से जोड़ने के लिए फाउंडेशन ने सचल स्वास्थ्य सेवाएं शुरू की हैं। निराश्रित एक कन्या की विवाह के लिए हंस फाउंडेशन ने सहयोग राशि प्रदान कर रहा है। साथ ही संस्था के सात सचल चिकित्सा वाहन गांव-गांव जाकर मरीजों को चिकित्सा सेवा मुहैया करा रहे हैं। शिक्षा के क्षेत्र में भी संस्था उत्तराखंड में काम कर रही है। कई विद्यालयों को संस्था ने गोद लिया है। इसके अलावा मेधावी छात्रों को ट्यूशन, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि भी संस्था द्वारा उपलब्ध कराया जाता है।
Facebook Comments

Random Posts