शिकारी गिरोहों का फाइनेंसर हुआ गिरफ्तार

pp500

वन्यजीव अपराध पर नियंत्रण के लिए गठित सीबीआइ की टीम ने कुख्यात शिकारी गिरोहों के एक फाइनेंसर को गिरफ्तार किया है, सीबीआइ टीम ने उसके कब्जे से बाघ की खाल व हड्डियां बरामद की गई हैं, हालांकि, सूबे के वनाधिकारियों ने इस मामले चुप्पी साधी है लेकिन सीबीआइ के एसपी ने खाल बरामदगी व गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

सीबीआइ ने पानीपत (हरियाणा) के समालखा से सटे भापरा गांव निवासी बड़े कारोबारी अनिल पुत्र अजीत सिंह को गिरफ्तार किया है। अनिल सोनीपत में ट्रांसपोर्ट का काम करता है। उसके कब्जे से बाघ की एक खाल व हड्डियां बरामद की गई हैं। सीबीआइ को सूचना मिली थी कि दो कुख्यात शिकारी गिरोहों को अनिल फाइनेंस करता है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शिकार के बाद खाल व हड्डियों की बिक्री वह अपने नेटवर्क के जरिये चीन को करता है और इसके लिए वह नेपाल में बैठे दलाल को मध्यस्थ बनाता है। इसी सूचना पर अनिल को दबोचा गया। अनिल जिन बावरिया गिरोहों को शिकार के लिए फाइनेंस करता है उनके खिलाफ शिकार के सर्वाधिक मामले उत्तराखंड में दर्ज हैं, जानकारी के अनुसार इस बार उसने समालखा के उभरते नए बावरिया गिरोह को शिकार के लिए फाइनेंस किया था।

Facebook Comments

Random Posts