देहरादून में ज्वैलर्स की दुकान पर आयकर विभाग ने मारा छापा

icome-tex-raid500

देहरादून। प्रधानमंत्री ने जैसे ही पांच सौ व हजार के नोट बंद करने का हुक्म जारी किया उसी दिन राजधानी के दर्जनों बड़े-बड़े ज्वैलर्स के यहां कालेधन से सोना खरीदने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी और इसी के चलते आयकर विभाग व ईडी के अफसरों की नजर राजधानी के ऐसे सभी बड़े सुनारों पर लग गयी जिन्होंने नोट बंद होने की खबर मिलने के बाद देर रात तीन बजे तक अपने यहां ऊंचे दामों पर सोने के जेवरात बेचे। इसी कड़ी में घंटाघर के समीप स्थित गीतांजलि ज्वैलर्स के यहां देर रात तक सोना खरीदने वालों की अपार भीड़ लगी हुई थी और सुरक्षा के लिए वहां पुलिस बल तैनात किया गया था।

gold-and-money500

गीतांजलि ज्वैलर्स व अन्य ज्वैलर्स के यहां करोड़ों रूपये के जेवरात बेचे जाने की खबर आयकर व ईडी विभाग को लगी हुई थी जिसके चलते चन्द सुनारों पर छापे मारने के लिए आयकर विभाग की टीम ने खाका बना रखा था और आज सुबह आयकर विभाग की तीन टीमों ने गीतांजलि ज्वैलर्स के यहां रेड डाली जिसकी खबर मिलते ही राजधानी के छोटे बड़े ज्वैलर्स में हड़कम्प मच गया और यह तय है कि जिन लोगों ने कालेधन को ठिकाने लगाने के लिए सोने के जेवरात खरीदने के लिए अपने कदम आगे बढ़ाये उनपर अब आयकर विभाग का शिकंजा कसना तय है।

उल्लेखनीय है आठ नवम्बर को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रात्रि बारह बजे से पांच सौ व एक हजार के नोट बंद करने का ऐलान किया तो उससे कालाधन रखने वालों में हड़कम्प मच गया और कालाधन खपाने के लिए बड़े-बड़े व्यापारियों व उद्यमियों ने शहर के कुछ बड़े नामचीन सुनारों के यहां दस्तक दी और जो सोना तीस हजार रूपये तोला बिक रहा था उसे सुनारों ने 50 से 60 हजार रूपये तोला बेच डाला। सोने के जेवरात कालेधन को खपाने के लिए उंचे दामों पर बेचे थे उनपर अब आयकर विभाग का शिकंजा कसता जा रहा है।

Facebook Comments

Random Posts