दिल्ली में डेंगू और चिकनगुनिया ने लिया सियासी रंग

mosquito500

देश की राजधानी दिल्ली में डेंगू व चिकनगुनिया का प्रकोप दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है और अब इसके चलते भाजपा और कांग्रेस दोनों में सियासी सरगरमियां तेज हो गई हैं और दोनों पार्टियां इसे भुनाने में लगी हुई हैं, इसी के चलते जहां एक ओर दिल्ली में भाजपा ने डेंगू एंव चिकनगुनिया पीड़ितों के लिए रक्तदान शिविर लगाने की घोषणा की है वहीं दूसरी ओर कांग्रेस दफ्तर में पीड़ितों के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है।

इन दोनों पार्टियों में अब एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप के बाद जनता की सहानुभूति एकत्रित करने की होड़ शुरू हो गई है। दिल्ली के मंत्री जहां सांसदो व नगर निगमों को मिलकर काम करने का आह्वान कर रहे हैं, वही भाजपा व कांग्रेस के नेता भी पीड़ितों के बीच पहुंचने लगे हैं।


लेकिन दिल्ली में मच्छर जनित बीमारियों के प्रकोप के लिए भाजपा भी कठघरे में है क्योंकि तीनों नगर निगमों पर उसका कब्जा है और दिल्ली को साफ सुथरा रखने के साथ-साथ गली और मोहल्लों में मच्छरों को पनपने से रोकने की जिम्मेदारी भी उसी की है। जिसे उसने ठीक ढंग से नहीं निभाया है और इससे लोगों मे निगमों के प्रति रोष व्याप्त है।

आम आदमी पार्टी के नेता व कांग्रेसी भी नगर निगमों पर निशाना साध रहे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली में चिकनगुनिया व डेंगू की भयावह स्थिति के लिए दिल्ली सरकार व निगम के साथ ही उपराज्यपाल भी जिम्मेदार हैं। मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री सहित अन्य मंत्री दिल्लीवासियों को उनके हाल पर छोड़कर चले गए हैं।


अभी फिलहाल दिल्ली सरकार डैमेज कंट्रोल में लग गई है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं। बेहतर तालमेल के लिए निगमों के साथ बैठकें भी की जा रही हैं। वहीं, दिल्ली के जल मंत्री कपिल मिश्रा सभी से मिलकर काम करने की अपील कर रहे हैं जिससे कि चिकनगुनिया व डेंगू की स्थिति पर काबू पाया जा सके और उसे आगे बढ़ने से रोका जा सके।

Facebook Comments

Random Posts