आयकर रिटर्न समय पर नहीं तो जुर्माना

0

 

अगले वर्ष से आयकर रिटर्न समय पर नहीं भरने पर 10 हजार रुपये तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। केंद्र सरकार ने आम बजट में कर वसूली के लिए ये नए प्रावधान किए हैं। नया नियम 1 अप्रैल 2018 से लागू होगा और 2018-19 आकलन वर्ष के लिए प्रभावी होगा  आयकर कानून के नए प्रावधान के तहत, जिनकी आय 5 लाख से अधिक नहीं है, उन पर एक हजार रुपये का जुर्माना लग सकता है। इसी तरह जिनकी आय पांच लाख से अधिक है और निर्धारित आकलन वर्ष में तय समय 31 जुलाई के बाद और 31 दिसंबर तक रिटर्न दाखिल करता है तो 5000 का जुर्माना लग सकता है। दिसंबर के बाद रिटर्न भरने पर 10 हजार चुकाने पड़ सकते हैं।  इसी तरह अगर आप 50 हजार रुपये से अधिक का किराया देते हैं तो 5 फीसदी टीडीएस देना होगा। इसमें टैन नंबर जरूरी नहीं होगा।  आखिरी तारीख 31 जुलाई होती है वेतनभोगी लोगों को 31 जुलाई तक आयकर रिटर्न दाखिल करना होता है। नए प्रावधान से आईटीआर आकलन वर्ष के मार्च अंत तक दाखिल करें। उदाहरण के लिए वित्त वर्ष 2017-18 की रिटर्न आखिर में मार्च 2019 केे अंत तक दाखिल करनी होगी।

Facebook Comments

Random Posts