जिगिशा मर्डर केस में 2 आरोपियों को फांसी, एक को उम्रकैद

 

ji500

दिल्ली के चर्चित जिगिशा मर्डर केस में दिल्ली की साकेत कोर्ट ने 7 साल बाद न्याय देते हुए इंसाफ किया है। जिगिशा घोष हत्याकांड में तीनों आरोपियों को दोषी दिए जाने बाद दिल्ली की साकेत कोर्ट ने आज सजा का एलान कर दिया है। कोर्ट ने दो आरोपियों रवि कपूर और अमित शुक्ला को फांसी की सजा सुनाई, जबकि एक अन्य दोषी बलजीत मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाई है। कोर्ट के फैसले पर जिगिशा की मां ने खुशी जताई है, उन्होंने कहा कि कोर्ट से उन्हें न्याय मिला है।

गौरतलब है कि जिगिशा (28) हेवेट एसोसिएट प्राइवेट लिमिटेड में संचालन प्रबंधक के पद पर थी। उसका 18 मार्च, 2009 को दफ्तर की गाड़ी से दक्षिण दिल्ली के वसंत विहार इलाके में स्थित घर के पास उतरने के बाद सुबह लगभग चार बजे अपहरण कर लिया गया था और

दो दिन बाद उसके शव को पुलिस ने फरीदाबाद के सूरजकुंड से बरामद किया गया। पुलिस ने मामले की अपनी तहकीकात में अमित शुक्ला, बलजीत मलिक और रवि कपूर की गिरफ्तारी की। अदालत ने अमित शुक्ला, बलजीत मलिक और रवि कपूर को जीगिशा की हत्या का दोषी माना था।

Facebook Comments

Random Posts