शीतलहर से कांपा समूचा उत्तर भारत

0

समूचा उत्तर भारत शीतलहर और कड़ाके की सर्दी की चपेट में है। दिल्ली और जम्मू में तो इस सीजन का सबसे कम तापमान रिकॉर्ड किया गया। सर्दी की बेरहमी के बीच कोहरा भी परेशानी का सबब बना हुआ है। हालांकि कई इलाकों में कोहरा साफ हुआ है, लेकिन ट्रेनों के लेट होने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। बिहार, झारखंड, राजस्थान, उत्तर प्रदेश में भी कड़ाके की सर्दी पड़ रही है।
मंगलवार को दिल्ली में इस सीजन का सबसे सर्द दिन रिकॉर्ड दर्ज किया गया। शीतलहर ने ज्यादातर लोगों को घरों में दुबके रहने पर मजबूर कर दिया। मंगलवार को न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री दर्ज किया गया। दूसरी तरफ कोहरे के कारण ट्रेनों की लेटलतीफी आलम जारी है। मंगलवार को दिल्ली क्षेत्र की 53 ट्रेनों का परिचालन देरी से हुआ। जबकि 14 ट्रेनों को रद किया गया।
भुवनेश्वर राजधानी सहित दिल्ली से चलने वाली तीन ट्रेनें रद रहीं। बुधवार को पुरुषोत्तम और काशी विश्वनाथ सहित आठ ट्रेनें रद रहेंगी। बुधवार को अमृतसर-नांदेड़ सचखंड एक्सप्रेस (12716), नई दिल्ली-त्रिवेंद्रम सेंट्रल केरल एक्सप्रेस (12626), नई दिल्ली-पुरी पुरुषोत्तम एक्सप्रेस (12802), दिल्ली सराय रोहिल्ला- चेन्नई सेंट्रल जीटी एक्सप्रेस (12616), हजरत निजामुद्दीन-हैदराबाद डेक्कन दक्षिण एक्सप्रेस (12722), हजरत निजामुद्दीन-विशाखापट्टनम लिंक एक्सप्रेस (12862), नई दिल्ली-वाराणसी काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस (14258), पुरानी दिल्ली-सियालदह पश्चिम बंगाल संपर्क क्रांति एक्सप्रेस (12330) रद रहेंगी।
मंगलवार को उत्तर प्रदेश के कई जिलों खासकर पश्चिमी उप्र में दिन भर चली बर्फीली हवाओं ने सर्दी के सितम में और इजाफा कर दिया। बावजूद धूप के गलन बनी रही तो कई जिलों में मौसम ने अलग-अलग तेवर दिखाए। ठंड तीन लोगों के लिए काल साबित हुई। मौसम में सुधार के बावजूद ट्रेनों की देरी का सिलसिला जारी है। मंगलवार को 11 ट्रेनें रद रहीं और 20 से अधिक ट्रेनें देरी से इलाहाबाद पहुंची। नई दिल्ली-भागलपुर गरीबरथ 67 घंटे देरी से आई।

Facebook Comments

Random Posts