महात्मा गांधी को हटाकर नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाई गई?खादी ग्रामोद्योग के कैलेंडर पर विवाद,

gandhi-500दी  खादी और ग्रामोद्योग आयोग का एक निर्णय विवादों में घिर गया है. हाल ही में उसने 2017 के लिए वार्षिक कैलेंडर और डायरियां जारी की हैं जिनमें राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर को हटा दिया गया है. चौंकाने वाली बात यह है कि कैलेंडर में गांधीजी की जगह इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाई गई है. इस बात की पुष्टि करते हुए आयोग के कुछ कर्मचारियों ने इकनॉमिक्स टाइम्स को बताया कि कैलेंडर के कवर पर हमेशा चरखा चलाते हुए गांधीजी की फोटो लगाई जाती थी लेकिन इस बार उनकी जगह नरेंद्र मोदी चरखा चलाते दिख रहे हैं. इन लोगों के मुताबिक इस बदलाव को देखकर संस्था के ज्यादातर कर्मचारी और अधिकारी हैरान हैं.

उधर, इस मुद्दे पर आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने कहा है कि यह हैरान होने जैसी बात नहीं है और पहले भी ऐसा होता रहा है. उनका कहना है, ‘पूरा खादी उद्योग ही गांधी जी के विचारों और आदर्शों पर आधारित है. ऐसे में उन्हें नजरअंदाज किए जाने का सवाल ही नहीं उठता.’ सक्सेना ने आगे कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी लंबे समय से खादी पहनते रहे हैं. वे खादी के सबसे बड़े ब्रांड एंबेसडर हैं. उनकी ‘मेक इन इंडिया’ और ‘स्किल डेवेलपमेंट’ योजनाओं के तहत खादी ग्रामोद्योग गांवों को आत्मनिर्भर बनाने और युवाओं को रोजगार देने के प्रयास में जुटा है…नए प्रयोग हो रहे हैं और मार्केटिंग को भी बेहतर बनाने पर जोर दिया जा रहा है.’

खादी ग्रामोद्योग के एक कर्मचारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर अखबार को बताया, ‘सरकार की ओर से इस तरह से महात्मा गांधी के दर्शन, विचारों और आदर्शों को खारिज किए जाने से हम बहुत दुखी हैं. पिछले साल भी ऐसा प्रयास किया गया था, जब कैलेंडर में पीएम मोदी की तस्वीर छपी थी.’ खबरों के मुताबिक पिछले साल जब कैलेंडर में नरेंद्र मोदी की तस्वीर छापी गयी थी तो ग्रामोद्योग के कर्मचारी संगठनों ने इस पर नाराजगी जाहिर की थी. बताया जाता है कि तब मैनेजमेंट की ओर से भविष्य में ऐसा न किए जाने का आश्वासन दिया गया था.

Facebook Comments

Random Posts