मोदी राज मैं इंसाफ के लिए लड़की को मुंडवाना पड़ा सिर

 

मदद की गुहार लगाने के बावजूद कोई सहायता न मिलने के विरोध में बीएचयू कैंपस के बाहर प्रदर्शन किया। न सिर्फ प्रदर्शन, बल्कि एक छात्रा आकांक्षा सिंह ने तो अपना सिर भी मुंडवा लिया…

उत्तर प्रदेश /वाराणसी..

हमारे प्रधानमंत्री बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा बुलंद करते हुए दावा करते हैं कि हमारी सरकार में महिलाओं के हक में ज्यादा से ज्यादा काम किए जाएंगे, दूसरी तरफ उनके संसदीय क्षेत्र में उनके आगमन से एक दिन पूर्व छात्रा से सरेराह छेड़खानी होती है, छात्रा सुरक्षाकर्मी से मदद की गुहार लगाती है, मगर उसकी बात सुनना तो दूर कोई उसकी तरफ कान भी नहीं देता। एक बात और उत्तर प्रदेश में भाजपा की ही सरकार यानी योगीराज है और प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र।
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की छात्राओं ने छेड़खानी से परेशान होकर और शिकायत करने और मदद की गुहार लगाने के बावजूद कोई सहायता न मिलने के विरोध में बीएचयू कैंपस के बाहर प्रदर्शन किया। न सिर्फ प्रदर्शन, बल्कि एक छात्रा आकांक्षा सिंह ने तो अपना सिर भी मुंडवा लिया।छात्राओं का आरोप है कि शिकायत के बाद भी पुलिसकर्मियों ने उनकी मदद नहीं की। बीएचयू की छात्राएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो दिनों के वाराणसी दौरे के दौरान ये प्रदर्शन कर रही हैं।
गौरतलब है कि विश्वविद्यालय परिसर के निकट ही कल 21 सितंबर को शाम के समय एक छात्रा से बाइक सवार लोगों ने छेड़खानी की। छात्रा के मदद के लिए चिल्लाने के बाजवूद सुरक्षाकर्मियों ने उसकी कोई मदद नहीं की, जिसके बाद मामला इस हद तक बढ़ गया कि छात्राओं ने विश्वविद्यालय कैंपस के बाद प्रदर्शन किया।गौरतलब है कि आज 22 सितंबर को हमारे प्रधानमंत्री और वाराणसी से सांसद नरेन्द्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर वहां गए हुए हैं। पीएम की सुरक्षा में चाक—चौबंद शहर में सुरक्षाकर्मियों ने इस बात की तरफ ध्यान देना भी मुनासिब नहीं समझते कि लड़कियों के सुरक्षा की बाबत भी कुछ काम कर लिया जाए, जबकि बीएचयू की छात्राएं लंबे समय से छेड़खानी की घटनाओं की शिकायत कर रही हैं।
जिस मुद्दे पर इतना बड़ा प्रदर्शन हुआ है उसमें पीड़ित छात्रा के मदद के लिए गुहार लगाने के बावजूद सुरक्षाकर्मी छात्रा की सहायता नहीं करते, जबकि जहां पर छात्रा के साथ छेड़खानी की गई थी, विश्वविद्यालय के सुरक्षाकर्मी वहां से मात्र चंद कदमों की दूरी पर बैठे हुए थे।इस बात की जानकारी पर पीड़ित छात्रा ने हॉस्टल पहुंचकर अन्य छात्राओं को दी तो गुस्साई छात्राओं ने न सिर्फ नारेबाजी की, बल्कि बीएचयू प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए प्रदर्शन कर दिया। छेड़खानी से गुस्साई छात्राओं को देख बीएचयू का गेट बंद कर दिया गया तो बैचलर आॅफ फाइन आर्ट्स की छात्रा आकांक्षा सिंह ने गुस्से में विरोधस्वरूप अपना सिर मुंडाकर इस घटना का विरोध किया।
गौरतलब है कि पिछले लंबे समय से बीएचयू की छात्राएं छेड़खानी की घटनाओं से परेशान हैं और प्रशासन से इन घटनाओं पर रोक लगाने की गुहार लगा रही हैं।

साभार  जानवर  डॉट  कॉम  से

Facebook Comments

Random Posts