मुंबई सिलसिलेवार बम धमाकों का मास्टरमाइंड मुस्तफा दोसा दफन

mustafadossa

मुंबई।

मुंबई में 1993 के सिलसिलेवार बम धमाकों के मास्टरमाइंड में से एक मुस्तफा दोसा को आज यहां एक कब्रिस्तान में दफन कर दिया गया। उसकी बुधवार को मौत हो गई थी। आर्थर रोड जेल में बंद 60 वर्षीय दोसा की बुधवार को मुंबई के जेजे अस्पताल में मौत हो गई थी। उसे सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे दोसा के परिवार को उसका शव सौंप दिया गया।इसके बाद परिवार के सदस्य शव को मध्य मुंबई के आग्रीपाडा में दोसा के आवास पर ले गए। पुलिस ने बताया कि आज सुबह करीब 1:30 पर दोसा के परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों ने दक्षिण मुंबई के मरीन लाइंस इलाके में बड़ा कब्रिस्तान में उसके माता-पिता की कब्र के समीप उसे दफन कर दिया। उन्होंने बताया कि अंतिम संस्कार के लिए भारी सुरक्षा बंदोबस्त किए गए थे। विशेष टाडा अदालत में सजा पर सुनवाई के दौरान केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मंगलवार को दलील दी थी कि 1993 सिलसिलेवार बम धमाकों के छह दोषियों में से एक दोसा की भूमिका फांसी पर लटकाए गए दोषी याकूब मेमन से ज्यादा गंभीर थी और सीबीआई ने उसे मौत की सजा देने की मांग की थी। अभियोजक पक्ष के अनुसार, दोसा ने विस्फोट के लिए असलों, गोला बारूद, डेटोनेटरों, हथगोलों और भारी विस्फोटक सामग्री जैसे कि आरडीएक्स की भारत में तस्करी की थी। मुंबई में 12 मार्च 1993 को हुए धमाकों में 257 लोगों की मौत हो गई थी और 700 लोग घायल हो गए थे।

Facebook Comments

Random Posts