ओमगोपाल लडे़गे निर्दलीय नरेन्द्रनगर से

0

टिकट ने मिलने से नाराज नरेन्द्रनगर के पूर्व विधायक एवं भाजपा नेता ओमगोपाल रावत ने पार्टी से बगावत की षुरूआत कर दी रावत ने नरेंद्रनगर से निर्दलीय चुनाव लड़ने के संकेत दिए है रावत ने नरेंद्रनगर के पूर्व विधायक सुबोध उनियाल और अन्य बागियों पर तीखा निषाना साधते हुए भाजपा को कांग्रेस की बी टीम करार दिया साथ ही कांग्रेस में जाने की संभावनाओं से भी इन्कार किया है सोमवार षाम ओमगोपाल न समर्थकों के साथ हरिद्वार रोड स्थित एक कांप्लेक्स में पहुंचकर प्रेस कांफ्रेस की। उन्हांेने कहा कि भाजपा के प्रदेष स्तरीय नेता राश्ट्रीय नेतृत्व को लगातार गुमराह कर रहे है। पुराने और निश्ठावान कार्यकर्ताओं की भाजपा कद्र नहीं कर रही है। पूर्व विधायक ने कहा कि वर्श 2007 में भाजपा की सरकार बनाने में उन्हांेने अहम योगदान दिया। पिछले पांच साले के दौरान पार्टी की नीतियों और केंद्र की करीब तीन साल की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने का काम किया। ऐन चुनाव के वक्त भाजपा ने धोखा देकर जनभावनाओं का भी अपमान किया है पूर्व विधायक ने कहा कि कांगे्रस सरका में रहकर घपले-घोटाले करने वाले नेता आज भाजपा के नीति निर्धाकर बन गए है। ऐस नेताओं की जनता जमानत जब्त कराएगी। पत्रकारों के सामने भावुक होते हुए चोट के पुराने निषान दिखाकर ओमगोपाल ने कहा कि भाजपा में वह एकमात्र ऐसे दावेदार थे जिसे मुज्जफरनगर कांड में गोली लगी। राज्य आंदोलन में वह 14 बार जेल गए और उन पर 17 मुकदमें दर्ज हुए। उन्होंने आरोप लगाया कि जिस व्यक्ति को टिकट दिया गया है कभी उनके कारण भाजपा नेताओं को झूठे मुकदमों में जेल जाना पड़ा था रावत ने कहा कि वह अब भारतीय जनता पार्टी के बजाय जनता जैसा चाहेगी उसी हिसाब से चुनाव लड़ेगे। इस मौके पर मौजूद ओमगोपाल के 30 से अधिक समर्थकों ने भी भाजपा छोड़ने की बात कही।

Facebook Comments

Random Posts