गैरसैंण का होगा चहुंमुखी विकास

कृषि उद्यान एवं पर्यटन विकास मेला गैरसैंण के उद्घाटन अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि गैरसैंण का विकास निश्चित रूप से होगा, ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने की दिशा में सरकार आगे बढ़ रही है। शनिवार को 14वें कृषि मेले में बतौर मुख्य अतिथि प्रदेश मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि मटर उत्पादन में हिमनी, घेस व बलाण के ग्रामीणों ने मॉडल खड़ा किया है इससे पूरे जनपद को सीख लेते हुए स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए।

गैरसैंण विकासखंड के हरगढ़ व धारापानी गांव में सेब व अखरोट के बागान विकसित किये जाने की घोषणा के साथ ही बासीसेम, लखेडी व मैखोली को मोटर सड़क से जोड़ने व धुरारघाट-सैंजी में बाढ़ सुरक्षा कार्य करने की बात कही। इससे पूर्व सीएम ने मेले में लगे स्टालों का निरीक्षण किया, उद्घाटन सत्र में गढ़वाल राईफल का बैंडवादन जहां आकर्षण का केन्द्र रहा वहीं स्कूली छात्र-छात्राओं ने प्रस्तुत झाकियों को सराहा गया। इस मौके पर विकासखंड में खेल शिक्षण व अध्ययन क्षेत्र में विशिष्ट उपलब्धियां प्राप्त करने वाले शिक्षकों, छात्रों को सम्मानित किया गया। कृषि मेले में पहली सांस्कृतिक संध्या गढ़ज्योति कलामंच के नाम रही, लोकगायक अनिल व मंजू के जय बोला जय भगवती नंदा. पर दर्शक जमकर थिरके वहीं पवन, सुनीता, लाली, अनिता, प्रियंका व संजू के नृत्य को दर्शकों ने खूब सराहा।

 

Facebook Comments

Random Posts