अब जंग बेनामी संपत्ति के खिलाफः पीएम मोदी

narendra-modi500

विपक्ष भले ही भ्रष्टाचार के खिलाफ नोटबंदी की कार्रवाई पर सरकार पर हमला करे, लेकिन काले धन के खिलाफ आम जनता सरकार की आंख-कान बन गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुसार नोटबंदी के बाद देश भर में पकड़े जा रहे हजारों करोड़ रुपये की नकदी की जानकारी सरकार को जनता से ही मिल रही है।
काले धन के खिलाफ लड़ाई को आगे जारी रखने का एलान करते हुए उन्होंने कहा कि तीन दशक से अटके बेनामी संपत्ति कानून को ज्यादा धारदार बनाया है। इसे जल्द लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राजनीतिक फंडिंग पर व्यापक बहस होनी चाहिए। संसद की कार्यवाही नहीं चलने देने के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुए उन्होंने कहा कि यदि बहस होती तो राजनीतिक दलों की फंडिंग पर व्यापक चर्चा हो जाती।
रविवार को साल 2016 के अंतिम श्मन की बातश् रेडियो प्रसारण में प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों से कहा कि नोटबंदी तो भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई की शुरुआत है। कालेधन के साम्राज्य को नेस्तानाबूद करने को 28 साल से ठंडे बस्ते में पड़े बेनामी संपत्ति कानून को धारदार बनाया गया है। ऐसी संपत्तियों को खोजने और जब्त करने का काम जल्द शुरू होगा।
इस कानून के तहत बेनामी संपत्ति रखने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि नोटबंदी को जनता का समर्थन मिला और अब जिस तरह जनता आगे बढ़कर काले धन की जानकारी सरकार को दे रही है, उसके बाद इस लड़ाई से पीछे हटने का सवाल ही नहीं उठता है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी को विफल करने के लिए कुछ लोग अफवाहें फैलाते रहे। पर जनता ने उन अफवाहों पर भरोसा न करके सरकार का साथ दिया। कभी कहा गया कि नमक के दाम बढ़ गए हैं, तो कभी कहा गया कि नोट में वर्तनी की गलती है। 500 और 1000 के नोट की तरह 2000 के नोट भी अवैध बनने की अफवाह उड़ाई गई। लेकिन जनता ने इन अफवाहों का अपने तरीके से जवाब दिया। असदुद्दीन ओवैसी का नाम लिए बिना उन्होंने भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ लड़ाई को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की तीखी आलोचना की।

Facebook Comments

Random Posts