गुलदार के आतंक से लोगों में दहशत

द्वाराहाट में विकासखंड के कफड़ा व आसपास के गांवों में इन दिनों मवेशीखोर गुलदार का आतंक बना हुआ है। दिन दहाड़े ही आबादी के आसपास दिखाई देने से लोग दहशतजदा हैं। कई बार निजात दिलाने की गुहार के बावजूद कोई कार्रवाई न होने से ग्रामीणों में आक्रोश पनपने लगा है। उन्होंने शीघ्र पिंजड़ा लगाकर गुलदार के आतंक को दूर करने की मांग की है। ब्लॉक के कुमाल्टा गांव के वाशिंदे इन दिनों दहशत में जीने पर मजबूर हैं।

लोगों का कहना है कि गुलदार बच्चों समेत आबादी के आसपास दिखाई दे रहा है। गुलदार अब तक गांव के जगदीश राम, चंद्र राम, युगल किशोर, हरीश चंद्र, नित्यानंद, महेश चंद्र व हरी राम समेत कई मवेशियों को अपना निवाला बना चुका है। आबादी के आसपास दिखाई देने से जहां महिलाएं जंगल में घास आदि लाने से डर रही हैं वहीं गुलदार के डर से बच्चों ने स्कूल जाना छोड़ दिया है। ग्राम प्रधान ललित मोहन पांडे के अनुसार कई बार विभागीय अधिकारियों से गुहार लगा चुके हैं और बीडीसी बैठकों में भी मामले का उठाया गया है। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

ग्रामीणों ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि विभाग किसी  घटना का इंतजार कर रहा है। ग्रामीणों ने डीएम को हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन भेज शीघ्र पिंजड़ा लगाकर गुलदार के आतंक से निजात दिलाने की गुहार लगाई है। ताड़ीखेत बाइक के पीछे बैठी बालिका पर हमले के सप्ताह बाद भी क्षेत्र में पिंजड़ा नहीं लगाए जाने पर लोगों में आक्रोश पनपने लगा है।

 

Facebook Comments

Random Posts