पतंजलि के सरसो के तेल सहित छह उत्पाद जांच में फेल, नोटिस जारी

ram-dev-a500123

पतंजलि के नमक, सरसो के तेल सहित छह उत्पाद जांच में फेल पाए गए हैं जिसके बाबत खाद्य सुरक्षा विभाग ने पतंजलि को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

 देश में योग के साथ छोटे स्तर से शुरुवात कर कई हजार करोड़ का कारोबार करने वाले बाबा रामदेव के पतंजलि उत्पाद पर एक बार फिर सवालिया निशान लगे हैं। योगगुरु बाबा रामदेव के पतंजलि नमक, सरसों का तेल समेत छह उत्पाद खाद्य सुरक्षा विभाग की जांच में फेल हो गए हैं। इन्हें भ्रामक प्रचार और दावे का दोषी पाया गया है। इस पर खाद्य सुरक्षा विभाग ने पतंजलि को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

दरअसल 16 अगस्त को खाद्य सुरक्षा विभाग ने कनखल स्थित पतंजलि के आउटलेट पर छापा मारकर सरसों के तेल, नमक, बेसन, शहद, काली मिर्च और पाइनएप्पल जैम के सैंपल भरे थे। इनको राज्य की रुद्रपुर स्थित राज्य खाद्य एवं औषधि विलेषण प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा गया था। इसमें सभी उत्पादों को मिस ब्राडिंग और मिस लीडिंग का दोषी पाया गया है, यानि सभी छह उत्पादों के लेवल पर किए दावे मिथ्या और भ्रामक हैं। सरसों के तेल व शहद आदि उत्पादों पर चिकित्सावृति का प्रयोग किया गया है। बाहर की कंपनियों से तैयार कराए गए कुछ उत्पादों को भी पतंजलि का विशिष्ट उत्पाद बताया गया है। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद जिला खाद्य सुरक्षा विभाग ने पतंजलि योगपीठ को नोटिस भेजकर उनसे जवाब तलब किया है। नियमानुसार तीस दिन के भीतर जवाब न देने पर विभाग इस मामले में दोषी फर्म के खिलाफ एडीएम कोर्ट में वाद दायर कर सकता है।

इससे पहले अलीगढ़ में खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने आठ जुलाई को सेंटर पाॅइंट स्थित पतंजलि स्टोर से बेसन का नमूना लिया था। इस नमूने को जांच के लिए लखनऊ प्रयोगशाला में भेजा गया था। जांच में बेसन का नमूना अधोमानक पाया गया था। इसमें चने के बजाय मटर के आटे की मिलावट पाई गई थी। खाद्य सुरक्षा विभाग अलीगढ़ ने बेसन का नमूना फेल होने पर निर्माता और विक्रेता को नोटिस जारी किया था। इससे पहले आटा नूडल्स सहित कई और उत्पाद भी जांच में फेल हो गए थे। इससे पतंजलि के उत्पादों की हकीकत बेनकाब हो रही है।

Facebook Comments

Random Posts