रायबरेली हादसाः बॉयलर की पाइप फटने से 30 की मौत 100 घायल, पीएम मोदी ने जताया दुख

यूपी के रायबरेली में एनटीपीसी ऊंचाहार की 500 मेगावाट की 6वीं इकाई में ब्वायलर की राख वाली विशालकाय पाइप फट जाने से 30 से अधिक श्रमिकों की मौत हो गई, जबकि करीब 100 कर्मचारियों के घायल होने की खबर है। हालांकि एनटीपीसी प्रशासन ने खबर लिखे जाने तक घटना की पुष्टि नहीं की है।

बुधवार को ऊंचाहार स्थित एनटीपीसी की 500 मेगावाट की 6वीं इकाई में ब्वायलर की राख वाली पाइप अचानक फट गयी। इस हादसे की चपेट में सौ से अधिक कर्मचारी आ गये। बताया जा रहा है कि 30 से अधिक श्रमिकों की मौत हो गयी है। घटना के बाद दर्जनों घायलों को जिला अस्पताल और शहर के एक निजी अस्पताल में भेजा गया। कुछ घायलों को एनटीपीसी के अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि यह घटना शाम चार बजे हुई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज पहले रायबरेली जाएंगे, पीड़ितों से मिलेंगे और फिर दोपहर बाद गुजरात के लिए रवाना होंगे।

घटना के बारे में एनटीपीसी प्रबंधन का कोई जिम्मेदार अफसर कुछ नहीं बोल रहा है। एनटीपीसी की सभी छह इकाइयों में विद्युत उत्पादन चल रहा था। दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे छठवीं इकाई में भयंकर विस्फोट हुआ। विस्फोट ब्वायलर से राख निकालने वाली पाइप में हुआ। यह भारी भरकम पाइप इकाई से सीधे ऐश पांड को जाती है। जो यूनिट में करीब 90 फुट की ऊंचाई पर है। वहां काफी संख्या में श्रमिक काम कर रहे थे। बहुत बड़े व्यास वाली पाइप के फटने से काफी मात्रा में आग की तरह तप रही राख का मलबा बाहर आया और तमाम लोग राख के मलबे में दब गए।

घटना के बाद वहां भगदड़ तथा चीख-पुकार मच गई। घटना के तत्काल बाद परियोजना के सभी अफसर और राहत व बचाव टीम छठवीं यूनिट में पहुंच गई। राख में दबे लोगों को निकाल कर एनटीपीसी के अस्पताल में भेजने का काम जारी है। घटना के बाद से एनटीपीसी में किसी के भी प्रवेश रोक दिया गया है और पूरे परिसर को सीआईएसएफ ने अपने सुरक्षा घेरे में ले लिया है।

Facebook Comments

Random Posts