सच लिखने का खामियाजा भुगत रहा, पाकिस्तानी शीर्ष पत्रकार

pakistan500

सच कड़वा होता है और जब पत्रकार सच लिखते हैं तो बहुत सी चीजें खुलकर सामने आती है, यही काम पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार सिरिल अलमिदा ने किया, लेकिन अब पाकिस्तान ने सिरिल अलमिदा को पाकिस्तान छोड़ने से मना कर दिया है। शंखनाद टुडे टीम सिरिल अलमिदा की भावनाओं की कद्र करते हुए उसे सलाम करती है कि जिस पत्रकारिता से सच्चाई सामने आती है उस पर गर्दन भी कट जाए तो कोई बुरा नहीं।

कहते हैं कि बंदूक की गोली से ज्यादा ताकत कलम में होती है, इस बात को पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार सिरिल अलमिदा ने सच कर दिखाया है। सिरिल अलमिदा ने पूरे पाकिस्तान के सच को बयां कर जो मिसाल कायम की है वह किसी से छिपी हुई नहीं है, उन्होंने पाकिस्तान के काले-कारनामों की पोल खोलकर सबके आगे रख दिया, और अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए अपने पेशे को कंलकित नहीं होने दिया, लेकिन अब सिरिल अवविदा ने ट्वीट कर कहा है कि मैं उलझन में हूं, दुखी हूं, मेरा कहीं जाने का कोई इरादा नहीं था, पाकिस्तान मेरा घर है और रहेगा।

पाकिस्तान ने अपने एक पत्रकार को देश से बाहर जाने पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। पत्रकार की रिपोर्ट में सरकार की ओर से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को कथित तौर पर कहा गया था कि आतंकी समूहों को उसके समर्थन के कारण देश वैश्विक रूप से अलग-थलग पड़ रहा है।

अलमिदा ने डॉन में पहले पन्ने पर पाकिस्तान सरकार और सेना के बीच की दरार को लेकर खबर लिखी थी। उन्होंने लिखा था कि इस दरार की वजह वे आतंकी समूह हैं, जो पाकिस्तान से संचालित होते हैं लेकिन भारत और अफगानिस्तान के खिलाफ आतंकी गतिविधियों को अंजाम देते हैं। अलमिदा ने छह अक्तूबर को, सूत्रों का हवाला देते हुए डॉन में लिखा था कि नवाज शरीफ सरकार ने सैन्य नेतृत्व से कहा है कि पाकिस्तान का बढ़ता अंतरराष्ट्रीय विलगाव आतंकवाद को कथित समर्थन के चलते है।
पाकिस्तान सरकार इस खबर को अब तक तीन बार नकार चुकी है। विदेश मंत्रालय ने इस खबर को जोरदार ढंग से खारिज करते हुए इसे ‘कयासबाजी’ करार दिया। सोमवार को प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अधिकारियों को आदेश दिए कि वे इस ‘मनगढ़ंत’ खबर को छापने के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ ‘कड़ी कार्रवाई’ करें। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, ‘प्रधानमंत्री ने इस उल्लंघन का कड़ा संज्ञान लिया है और निर्देश दिया है कि इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए उनकी पहचान की जानी चाहिए।’

डॉन के रिपोर्टर सिरिल अलमिदा ने ट्वीट करके कहा कि उन्हें ‘निकास नियंत्रण सूची (एग्जिट कंट्रोल लिस्ट)’ में रखा गया है। यह पाकिस्तान सरकार की सीमा नियंत्रण की व्यवस्था है, जिसके तहत सूची में शामिल लोगों को देश छोड़ने से रोका जाता है। अलमिदा ने ट्वीट किया, ‘उलझन में हूं, दुखी हूं। कहीं जाने का कोई इरादा नहीं था। यह मेरा घर है, पाकिस्तान।’

Facebook Comments

Random Posts