सतलुज-यमुना लिंक नहर विवादः कांग्रेस के 42 विधायकों ने एक साथ दिया इस्तीफा

amrinder-singh1500

 

सतलुज-यमुना लिंक नहर विवाद कम होने के बजाए लगातार बढ़ता ही जा रहा है इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पंजाब में राजनीति और अधिक तेज हो गई है जिसके चलते इस मुद्दे पर कांग्रेस के 42 विधायकों ने एक साथ अपना इस्तीफा दे दिया है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इस मुद्दे पर गुरुवार को ही लोकसभा से अपना इस्तीफा दे चुके हैं, वहीं इन सबके चलते सुरक्षा की दृष्टि से हरियाणा रोडवेज ने जींद से पंजाब जाने वाली सभी रूटों की बसें बंद कर दी हैं।

300-jpeg1

गौरतलब है कि गत गुरुवार को सतलुज-यमुना लिंक को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार को करारा झटका देते हुए कहा कि पंजाब सरकार का पंजाब टर्मिनेशन आफ एग्रीमेंट एक्ट 2004 असंवैधानिक है और इसे नहीं माना जा सकता और सतलुज-यमुना लिंक नहर बनकर रहेगी। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के तुरंत बाद इस मुद्दे को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई और बैठक में फैसला लिया गया कि पंजाब पानी का एक भी बूंद पंजाब से बाहर जाने नहीं देगा, प्रकाश सिंह बादल की अगुवाई में हुई इस आपात में फैसला लिया गया कि इस मसले को लेकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से अपील की जाएगी कि वो भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ना मानें। इस मुद्दे को लेकर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र 16 नवंबर को बुलाया गया है।

Facebook Comments

Random Posts