स्वामी शिवानंद सरस्वती ने लगाया खनन में करोड़ों के घोटाले का आरोप

मातृ सदन के अध्यक्ष स्वामी शिवानंद सरस्वती ने आरोप लगाया कि हरिद्वार में खनन के नाम पर करोड़ों का घोटाला किया जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय की टीम के सामने यह उजागर हो गया है। बुधवार को अपने आश्रम में पत्रकारों से बातचीत में स्वामी शिवानंद ने बताया कि मंगलवार को बिशनपुर कुंडी में दोपहर ढाई बजे खनन क्षेत्र में लगभग डेढ़ सौ ट्रक खनन सामग्री से लदे मिले। जबकि नियमानुसार एक दिन में एक हजार टन ही उठान हो सकता है। खनन का समय सुबह 6.30 से शाम 5 बजे तक का है। एक ट्रक में लगभग 9 से 10 टन खनन सामग्री लादी जाती है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि रोजाना कितना खनन हो रहा है।

स्वामी शिवानंद ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री जीरो टोलरेंस की बात कर रहे हैं। लेकिन, खनन के नाम पर हो रहे घ् ाोटाले के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। उन्होंने कहा कि जहां-जहां खनन खोला गया है वहां सभी जगहों पर तौल कांटों के समीप से अलग से रास्ता बनाया गया है। जिससे एक ही रवन्ने पर कई बार गाड़ी आ जा सके। वैज्ञानिकों की टीम ने अपनी आंखों से यह सब देखा है। एक दिन में कई हजार टन माल गंगा से निकाला जा रहा है। करोड़ों रुपये का माल गलत तरीके से बाईपास हो रहा है।

स्वामी शिवानंद ने कहा कि पहले ही खनन के कारण गंगा में अधिकांश टापू समाप्त हो चुके हैं। जो बचे हैं उन पर भी खनन माफिया की नजर है। यह सब मातृ सदन को दिखाई दे रहा है, लेकिन सरकारी अफसर आंख बंद किए हुए हैं। आरोप लगाया कि प्रतिदिन लगभग ढाई करोड़ रुपये की खनन सामग्री गंगा से निकाली जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार, प्रशासन व स्थानीय विधायक को पर्यावरण व गंगा से कोई मतलब नहीं है।

Facebook Comments

Random Posts