जाटों ने दी धमकी… जहां प्रशासन रोकेगा वहीं धरने पर बैठेंगे

0

जाट आरक्षण की मांग को लेकर हरियाणा के सभी जिलों में धरने पर बैठे जाट गुरुवार को जंतर-मंतर पर धरना देने पहुंच रहे हैं । जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्घ्ट्रीय अध्घ्यक्ष यशपाल मलिक ने ऐलान किया है कि दिल्घ्ली पुलिस जिस जगह आंदोलनकारियों को रोकेगी वह सड़क हमारी होगी। वहीं पर आंदोलनकारी धरने पर बैठ जाएंगे। इसलिए उन्घ्हें रोकने की कोशिश न की जाए। मलिक ने दावा किया कि निजी वाहनों से करीब 10 हजार जाट आंदोलनकारी दिल्ली आ रहे हैं। शुक्रवार को करीब दो सौ ट्रैक्टर-ट्राली से भी हजारों लोग आएंगे। उन्घ्होंने कहा कि हरियाणा सरकार उनकी मांग मानने के लिए तैयार नहीं है। इसलिए उन्घ्हें दिल्ली आना पड़ रहा है। वहीं दूसरी और जाट आरक्षण संघर्ष समिति द्वारा पूर्व घोषित 2 मार्च के दिल्ली कूच कार्यक्रम के तहत दादरी जिले से समिति के सैंकड़ों लोग दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं। दिल्ली रोड स्थित इमलोटा गांव से जिलाध्यक्ष राजकुमार हड़ोदी ने हरी झंडी दिखाकर वाहनों के काफिले को रवाना किया है। उल्लेखनीय है जाटों की मुख्य मांग फरवरी 2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हरियाणा में मारे गए 18 जाट युवाओं के परिजनों को नौकरी देना है। जाट युवकों पर दर्ज केस वापस लेने व सांसद राजकुमार सैनी पर कार्रवाई करने की मांग है। जेलों में बंद जाट समाज के 67 युवाओं को रिहा करने, जाट आरक्षण को संविधान की नौवीं सूची में डालने और जातीय द्वेष फैलाने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों पर कार्रवाई आदि हैं।

Facebook Comments

Random Posts