अपनों ने ही किया पार्टी का बेडा गर्ग, आपसी विवाद को माना हार का कारण

0

देहरादून। गत विधानसभा चुनाव में दल के अत्यंत निराशाजनक परिणाम के पार्टी स्वयं को दोषी मानती है। वह जनता को सरकार चलाने का मजबूत विकल्प नहीं दे पाई। पार्टी ने माना कि उसकी आवाज केवल सड़कों तक सिमट कर रह गई, जो दुखद है।  केंद्रीय कार्यकारिणी की समीक्षा बैठक में यह माना गया कि वरिष्ठ नेताओं में समय-समय पर विवाद पैदा होना हार का सबसे बडा कारण रहा। संसाधनों की कमी ने इस हार की आग में घाी का काम किया। चुनाव से कुछ नेताओं ने चुनाव से किनारा कर लिया। जिसका खामियाजा दल को भुगतना पड़ा। यह मानना है उत्तराखंड क्रान्ति दल-उक्रंाद का जो इस बार सत्ता के सिंहासन पर बैठना का दावा कर रही थी।

Facebook Comments

Random Posts