राष्ट्रपति आएंगे उत्तराखंड में, धर्मनगरी और केदारनाथ में करेगें पूजन

 राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद पहली उत्तराखंड के दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान उनके परिवार के सदस्य भी उनके साथ रहेंगे। उनके दौरे को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविंद पहली बार धर्मनगरी पहुंच रहे हैं। इस दौरान राष्ट्रपति कोविंद हरकी पैड़ी पहुंचकर गंगा पूजन भी करेगें। गंगा पूजन में हरकी पैडी पर राष्ट्रपति के साथ उनके परिवार सात अन्य सदस्य भी मौजूद रहेगें। राष्ट्रपति कोविंद के साथ गंगा पूजन में शामिल होने वालों में उनकी धर्मपत्नी, भाई, पुत्री, पुत्र, पुत्रवधु सहित पौत्र एवं पौत्री शामिल होंगे। श्रीगंगा सभा के महामंत्री रामकुमार मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि उनके पास यह सूची आ चुकी है। इसमें राष्ट्रपति सहित उनके परिवार के सात अन्य सदस्य गंगा पूजन में हिस्सा लेगें।
श्रीगंगा सभा के अध्यक्ष पुरुषोत्तम गांधीवादी ने बताया कि गंगा पूजन के बाद चार बजकर पांच मिनट पर राष्ट्रपति श्रीगंगा सभा अतिथि कक्ष में पहुंचेंगे। जहां श्रीगंगा सभा के पदाधिकारी राष्ट्रपति को चांदी के कलश में गंगाजल भेंट करेंगे। साथ ही के पत्र में लिखा एक अभिनंदन पत्र भी राष्ट्राति को सौंपा जाएगा।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शनिवार को आधे घंटे के लिए कार्यक्रम चण्डीपुल के नीचे दिव्य प्रेम सेवा मिशन भी पहुंचेंगे। राष्ट्रपति दोपहर तीन बजे हरिद्वार आएंगे। हरकी पैड़ी गंगा पूजन के बाद राष्ट्रपति का काफिला सीधे दिव्य प्रेम सेवा मिशन पहुंचेगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सेवा मिशन के कार्यक्रम में आधे घंटे रुकेंगे। कार्यक्रम स्थल पर बनाए गए मंच पर राष्ट्रपति सहित सात लोगों को मंच पर बैठने की अनुमति है। राष्ट्रपति के अतिरिक्त प्रदेश के राज्यपाल केके पॉल, सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधान सभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल, आचार्य बालकृष्ण, दिव्य सेवा मिशन के संस्थापक आशीष गौतम एवं कार्यक्रम का संचालन करने के लिए संजय चतुर्वेदी मंच पर रहेंगे।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 24 सितम्बर को बाबा केदार के दर्शनों को केदारनाथ जाएंगे। केदारनाथ की यात्रा के शुभारंभ पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ पहुंचने से भी यात्रा में काफी इजाफा हुआ है। 28 सितम्बर 2016 पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी केदारनाथ आए थे। 3 मई 2017 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आए। जबकि 24 सितम्बर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद केदारनाथ दर्शन करेंगे।
प्रणब मुखर्जी के बाद अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के केदारनाथ दौरे को लेकर जनपद के लोगों में काफी खुशी है। लोगों का कहना है कि देश के प्रथम व्यक्ति के इस धाम में पहुंचने से यहां का सम्पूर्ण विकास होगा। यहां सुविधाएं जुटेंगी और भविष्य में यहां आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या रिकार्ड होगी, जिससे यहां के लोगों को रोजगार मिलेगा और आर्थिकी मजबूत होगी।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के 24 सितम्बर को केदारनाथ आगमन को लेकर डीएम मंगेश घिल्डियाल ने जिले के अफसरों की बैठक ली। केदारनाथ में इस दौरान कड़ी सुरक्षा रहेगी। डीएम ने बदरी-केदार मंदिर समिति के अधिकारी कर्मचारियों को भी निर्देश दिए कि पूजा अर्चना के दौरान केदारनाथ मंदिर के चार पुरोहित ही मौजूद रहेंगे। बैठक में सीडीओ डीआर जोशी, प्रभारी अधिकारी देवानंद, एसडीएम जखोली आदि मौजूद थे।
केदारनाथ धाम में राष्ट्रपति के दौरे को लेकर तैयारी शुरू हो गई है। हेलीपैड से मंदिर की ओर तक वैरीकेटिंग लगनी शुरू हो गई है। विभिन्न अधिकारी और कर्मचारी को इस कार्य को संचालित करवा रहे है। इसके साथ ही पुलिस भी अपनी तैयारियों में जुट गई है। पुलिस अधीक्षक पीएन मीणा ने पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों की बैठके लेनी शुरू कर दी है साथ ही उन्हें विशेष प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है।
Facebook Comments

Random Posts