सुप्रीम कोर्ट ने दिया बीसीसीआई को करारा झटका

sss

सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को करारा झटका देते हुए लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को सही ठहराने के कोर्ट के फैसले का रिव्यू करने के लिए दी गई बीसीसीआई की पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया।

लोढ़ा कमिटी की सिफारिशों को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई की रिव्यू पिटिशन को आज मंगलवार को खारिज कर दिया। यह बीसीसीआई के लिए बहुत बड़ा झटका है।

बीसीसीआई ने लोढ़ा कमिटी की सिफारिशों को लागू करने संबंधी फैसले के रिव्यू पिटिशन का सुप्रीम कोर्ट से आग्रह किया था। मुख्य न्यायाधीश टी एस ठाकुर और एस ए बोबडे की पीठ ने बीसीसीआई के वकील की दलीलें सुनने के बाद साफ कर दिया कि वह अपने 18 जुलाई के आदेश की समीक्षा नहीं करेगी। कोर्ट ने लोढा समिति की ज्यादातर सिफारिशों को सही ठहराते हुए बीसीसीआई को उस पर अमल का आदेश दिया था।

loda-mameti500

लोढा समिति ने एक राज्य एक वोट, बीसीसीआई अधिकारियों के पद पर उम्र और कार्यकाल की समयसीमा, मंत्रियों के बोर्ड से दूर रहने जैसी कई अहम और सख्त सिफारिशें दी हैं जिसे बोर्ड ने लागू करने में असमर्थता जताई थी। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इसे लागू करने के लिए कहा था जिसके बाद बोर्ड ने रिव्यू पिटिशन दायर की थी।

इससे पहले सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने लोढा समिति की सिफारिशों पर अमल से संबंधित एक अन्य मामले में सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था और बीसीसीआई और उसकी राज्य इकाइयों को एक नई समयसीमा तक सिफारिशों को लागू करने के लिए कहा था।

Facebook Comments

Random Posts