उत्तराखंड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की लिए कड़ी चुनौतियां

0

भाजपा नेता त्रिवेंद्र सिंह रावत शनिवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। करीब 17 साल पहले बने इस पहाड़ी राज्य में वे भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने वाले 5वें नेता हैं। उनसे पहले नित्यानंद स्वामी, भगत सिंह कोश्यारी, बीसी खंडूरी और रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ मुख्यमंत्री रह चुके हैं।  यही नहीं कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री रह चुके विजय बहुगुणा भी पार्टी से बगावत करने के बाद इन दिनों भाजपा में ही हैं। कांग्रेस से आए सतपाल महाराज, हरक सिंह रावत, कुंवर प्रणव चैंपियन जैसे अंदर हैवीवेट नेताओं को संभाले रखना भी उनके लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा। मुख्यमंत्री बनने के साथ ही त्रिवेंद्र रावत को कुछ मुद्दे विरासत में मिल रहे हैं, जिनमें राजधानी गैरसैंण और नए जिलों के गठन के साथ ही पलायन और पहाड़ों में रोजगार के साधन जुटाना अहम होंगे।

Facebook Comments

Random Posts