उत्तराखंड विकल्प करेगा ईमानदार व चरित्रवान प्रत्याशियों  का समर्थन

p-5500

 उत्तराखंड विकल्प ने प्रदेश में आगामी 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अभी से ही महागठबंधन बनाये जाने के लिए रणनीति तैयार कर ली है और इसमें सभी राजनैतिक दलों को आमंत्रित किया गया और प्रदेश के नागरिकों को एक मंच पर आने का आहवान किया गया। यहां परेड ग्राउंड स्थित उत्तरांचल प्रेस क्लब में पत्रकारों से रूबरू होते हुए मिजोरम के पूर्व राज्यपाल सेनि ले. जनरल एम एल लखेडा ने कहा कि आगामी वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए स्वच्छ एवं ईमानदार व्यक्ति को प्रत्याशी बनाये जाने एवं उसका सपोर्ट करने के लिए जनता के बीच जाकर आग्रह किया जायेगा। उनका कहना है कि राजधानी के एक होटल में जुलाई माह में भाजपा व कांग्रेस को छोड़कर 22 प्रमुख राजनैतिक दलों व संगठनों को एक बैठक में आमंत्रित किया गया था।

उनका कहना है कि लगभग 66 दिनों तक मीडिया से दूर चले प्रयासों में सर्वप्रथम क्षेत्रीय दलों की एकता के प्रयास के बिन्दु हेतु भरसक एवं ईमानदार प्रयास किये गये। उनका कहना है कि छह बैठकों के बावजूद नतीजा शून्य रहा जिसके बाद एक अंतिम बैठक सितम्बर माह में सिर्फ दो दल ही उपस्थित हुए और इस बैठक में भी नागरिक प्रयास में समय गंवाने की बजाय नई परियोजना पर कार्य प्रारंभ किया गया जिसका खाका बनाने की तैयारी को गंभीर विमर्श के साथ प्रारंभ हुई।  उनका कहना है कि वर्तमान में राज्य में स्वच्छ राजनैतिक विकल्प की अत्यंत आवश्यकता है जिसमें ईमानदार, चरित्रवान, कर्मठ एवं संपूर्ण सेवाभाव से परिलक्षित निर्दलीय उम्मीदवारों को जो किसी राजनैतिक दल से प्रत्यक्ष रूप से संबंधित न हो को चिन्हित कर आगामी चुनावों में उसका पूर्णरूप से समर्थन व सहयोग किया जाये।

ऐसा पिछले सोलह वर्षों में उत्तराखंड क्रांति दल सहित सभी राजनैतिक दलों या उनसे सम्बद्धता एवं सहानुभूति रखने वाले चुने हुए विधायक द्वारा सत्ता की लोलुप्ता का जो घिनौना खेल खेला गया है उससे उत्तराखंड की जनता के साथ हुए छलावे के कारण उत्तराखंड के जन मानस में वर्तमान में नेताओं एवं राजनैतिक पार्टियों के प्रति विद्यमान अविश्वास व मौका परस्ती के दृष्टिकोण की व्याप्त सोच के कारण जनमानस के मन में विश्वास का भाव उनके द्वारा चुने हुए प्रतिनिधि के प्रति हो के उददेश्य से किया जा रहा है।

उनका कहना है कि सर्वसम्मति से तय किया गया कि इस प्रकार चुने गये नये विधायक द्वारा उत्तराखंड की ज्वलंत व आम आदमी की समस्या को विधानसभा के अंदर क्षेत्रीय आवश्यकताओं के अनुसार उठाया जायेगा और उसका हल विधानसभा में हो और हल लागू किया जाये की लडाई विधानसभा के भीतर ऐसे चुने हुए विधायक लडे और सडकी की लडाई ऐसी मांगों को पूरा करने के लिए संगठन संविधान के तहत लडेगा। उनका कहना है कि इसके लिए जनजागरण अभियान चलाया जायेगा ओर जनता को जागरूक करने का कार्य किया जायेगा। उनका कहना है कि 20 नवम्बर को नैनीताल में गोष्ठी का आयोजन किया जायेगा और 12 मार्च को मौन मार्च राजधानी में निकाला जायेगा।

Facebook Comments

Random Posts