खून और पानी साथ-साथ नहीं बह सकते: नरेंद्र मोदी

iiiii500

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिंधु जल समझौते को लेकर समीक्षा बैठक की, इस बैठक में सिंधु जल समझौते को लेकर सरकार का सख्त रुख दिखाई दिया। सूत्रों के अनुसार, इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि खून और पानी साथ नहीं बह सकते। इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, विदेश सचिव एस जयशंकर, जल संसाधन सचिव एवं प्रधानमंत्री कार्यालय के अन्य अधिकारी उपस्थित थे। इस बैठक में भारत-पाकिस्तान को कम पानी देने पर भी विचार किया गया और सिंधु जल समझौते पर पुनर्विचार करने को भी कहा गया। हालांकि अभी समझौता रद्द करने को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ।

shindhu-nadi1500

बिना समझौता तोड़े भी पाकिस्तान को नहीं मिल सकता है पानी
प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि अब तक पाकिस्तान के साथ 112 बैठकें हो चुकी हैं परंतु अब आतंक के माहौल में बातचीत नहीं की जा सकती। वहीं अधिकारियों ने कहा कि बिना समझौता तोड़े भी भारत अपने हिस्से का पानी ले सकता हैं। प्रधानमंत्री द्वारा बुलाई बैठक में वाटर रिसोर्सेज मंत्रालय के सेक्रेटरी ने एक प्रजेंटेशन दिया, जिसमें कहा गया कि बिना समझौते को तोड़े बिना हम जो अपने हिस्से का ज्यादा पानी पाकिस्तान को दे रहे हैं, उसको रोका जा सकता है। बैठक में यह भी कहा गया कि 3.6 मिलियन एकड़ फीट वाटर स्टोरेज पर भारत का हक है, यह पानी हम पाकिस्तान को ज्यादा देर रहे थे, जो कि हम हम रोक सकते हैं जिससे कि 6 लाख हेक्टर लैंड में सिंचाई हो सकेगी।

Facebook Comments

Random Posts